1992 में पटना में जन्मे सिंगर और कंपोजर ज़ुबिन सिन्हा की कामयाबी की कहानी किसी से छुपी नहीं है। ज़ुबिन जैसे जैसे बड़े हो रहें थे संगीत की तरफ उनका रुझान बढ़ रहा था। संगीत की प्रारंभिक शिक्षा उन्होंने पटना से ही ग्रहण की। इसके बाद उन्होंने इलाहाबाद के प्रयाग संगीत समिति से शास्त्रीय संगीत में ‘प्रभाकर’ हासिल किया।

हाल में वह यूएनडी( यूनिटी एंड डायवर्सिटी) बैंड के मुख्य गायक है। यह बैंड अपने आप में अलग और जाना माना है जो अलग अलग तरह के म्यूज़िक के साथ अलग अलग फ्लेवर के गाने बनाने के लिए मशहूर है।

ज़ुबिन हमेशा से एक म्यूजिक डायरेक्टर बनने का सपना देखते आए थे। उनके लिए म्यूज़िक हमेशा से उनकी जिंदगी रहा है। शुरू से ही वो संगीत की दुनिया में आगे बढ़ने का ख़्वाब देखते थे। और आज हम कह सकते हैं कि वो बिल्कुल अपने मुकाम के पास खड़े हैं।

यह बात ज़ुबिन के लिए बिल्कुल जायज़ सी लगती है कि “किसी चीज़ को जब शिद्दत से चाहों तो सारी दुनिया उसे तुमसे मिलाने की साज़िश में लग जाती है”। और हो भी क्यों ना आखिर जिस तरह से ज़ुबिन ने संगीत को अपनी जिंदगी माना है उसी तरह से संगीत भी ज़ुबिन को अपनी तरफ खींचती है।

प्रभाकर पूरा करने के बाद प्लेबैक सिंगिंग सीखने के लिए वो आईटीए(इंडियन टेलीविजन एकेडमी) से जुड़ गए। वर्तमान में वो राइटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया और म्यूज़िक डायरेक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के सदस्य है। ज़ुबिन के लिए हमेशा से सीखने का मतलब आगे बढ़ना है और आज यह सिंगर साउंड प्रोग्रामिंग सीख रहा है।

ज़ुबिन की मेहनत और लगन से ही वो इतने आगे बढ़ पाए हैं। और आज उनके चाहने वालों की कमी नहीं है। उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत पटना रेडियो मिर्ची में रेडियो जिगंल लिखने से की थी। उन्हें बॉलीवुड में पहली बार ‘सार्थक’ फिल्म के लिए म्यूज़िक डायरेक्टर की तौर पर काम करने को मिला था। इसके बाद उन्होंने कई सिंगर्स को अपने अंदर ट्रेनिंग दी। और इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। पंडित भवानी शंकर, तोची रैना, चिंटू सिंह जैसे दिग्गज संगीतकार-गीतकारों के साथ वे काम करते गए। हल्ला गुल्ला, कौन हूं मैं, हम देश उनके मशहूर गीतों में से हैं। उन्हें बिहार कला रत्न से भी नवाजा गया है।

भले ही ज़ुबिन अपनी जिंदगी में कितना ही आगे क्यों ना बढ़ गए हों मगर आज भी वो अपने शहर पटना से जुड़े है। रेडियो मिर्ची के टाइटल जिंगल को उन्होंने ही कंपोज किया है और साथ ही गाया भी है।

पूरा बिहार उनकी सफलता की उन्हें बधाई देता है और साथ ही उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here