वर्ल्ड बैंक ने भारतीय अर्थशास्त्री आभास झा को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. अाभास झा को वर्ल्ड बैंक ने दक्षिण एशिया में जलवायु परिवर्तन और आपदा प्रबंधन पर महत्वपूर्ण स्थिति के लिए नियुक्त किया है. मालूम हो कि वर्तमान समय में आइएमएफ की चीफ इकोनॉमिस्ट भी एक भारतीय है और उनका नाम गीता गोपीनाथ है.

जलवायु परिवर्तन और आपदा प्रबंधन के लिए सौंपी गयी अहम जिम्मेदारी

न्यूज एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक, भारतीय मूल के अर्थशास्त्री आभास झा को दक्षिण एशिया में विश्वबैंक के एक महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त किया गया है. आभास झा को जलवायु परिवर्तन और आपदा प्रबंधन के लिए महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गयी है. भारतीय अर्थशास्त्री आभास झा की नियुक्ति ऐसे समय हुई है, जबकि अम्फान चक्रवात से भारत पश्चिम बंगाल, ओड़िशा तथा बांग्लादेश में जानमाल का काफी नुकसान हुआ है.

विश्व बैंक का बयान

समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक, विश्व बैंक ने बयान में कहा कि बैंक के दक्षिण एशिया में जलवायु परिवर्तन और आपदा प्रबंधन पर कार्यविधि प्रबंधक के रूप में झा की शीर्ष प्राथमिकता दक्षिण एशियाई क्षेत्र की आपदा जोखिम प्रबंधन और जलवायु परिवर्तन टीम को वैश्विक वैश्विक व्यवहार सीमाओं से जोड़ने और उनके साथ तालमेल को प्रोत्साहन देने की होगी.

आभास झा ने 2001 में ज्वाइन किया था विश्व बैंक

मिल रही जानकारी के मुताबिक, आभास झा ने 2001 में विश्व बैंक ज्वाइन किया और वह बांग्लादेश, भूटान, भारत और श्रीलंका के बैंक कार्यालय में कार्यकारी निदेशक रह चुके हैं. इस दौरान आभास झा ने लैटिन अमेरिका, कैरिबियन, यूरोप, मध्य एशिया, पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्रों में अपना योगदान दिया है.

जानें… कौन है आभास झा

विश्व बैंक में महत्वपूर्ण पद हासिल करने वाले भारतीय अर्थशास्त्री आभास झा का बिहार से भी संबंध रहा है. आभास झा बिहार की राजधानी पटना स्थित सेंट जेवियर्स हाई स्कूल के पूर्व छात्र रहे है. विश्व बैक में अहम जिम्मेदारी निभाने जा रहे आभास झा इससे कुछ समय पहले तक पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र में शहरी विकास और आपदा जोखिम प्रबंधन के लिए बतौर प्रैक्टिस मैनेजर काम कर रहे थे.

Sources:-Prabhat Khabar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here