मधुबनी में बंद लोहट चीनी मिल में शुरू होगा काम, 400 करोड़ का होगा निवेश

खबरें बिहार की

Patna: पिछले दिनों में पटना में इथेनॉल उत्पादन प्रोत्साहन नीति जारी करते हुए उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा था कि राज्य में इथेनॉल उत्पादन के क्षेत्र में निवेश के लिए तीस बड़े प्रस्ताव आ गए हैं। यह निवेश प्रस्ताव अब धरातल पर उतरते दिखाई देने लगा है। बिहार राज्य निवेश प्रोत्साहन पर्षद (एसआईपीवी) की बैठक में राज्य में इथेनॉल उत्पादन यूनिट लगाने के लिए तीन निवेश प्रस्ताव मिले। एसआईपीवी ने इस पर विचार करने के बाद तीनों प्रस्तावों को पहले चरण की मंजूरी दे दी गई है। इन तीनों प्रस्ताव में करीब 650 करोड़ निवेश होने की संभावना है। यह तीनों निवेश प्रस्ताव क्रमश: मधुबनी,गोपालगंज और मोतिहारी के जिले के लिए है।

शुगर मिल में इथेनॉल उत्पादन : गोपालगंज में भी इथेनॉल उत्पादन करने की तैयारी में है। कंपनी इसके लिए 133 करोड़ का निवेश प्रस्ताव राज्य सरकार को दिया है। उद्योग विभाग इस प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है। वहीं, मोतिहारी में भी 120 करोड़ की लागत से इथेनॉल प्लांट लगाने का प्रस्ताव दिया है।

इथेनॉल के साथ चीनी उत्पादन भी : कभी चीनी उत्पादन के लिए जाना जाने वाले मिथिलांचल क्षेत्र में अब एथेनॉल उत्पादन भी होगा। मधुबनी जिला के लोहट में इथेनॉल यूनिट लगाने का प्रस्ताव दिया है। कंपनी यहां एथनॉल के साथ-साथ पावर जेनरेशन और चीनी भी बनाएगी। कंपनी यहां करीब 400 करोड़ निवेश करेगी।

31 नए निवेश प्रस्तावों को फर्स्ट क्लियरेंस : एसआईपीवी की 28 वीं बैठक में 31 नए निवेश प्रस्तावों को फर्स्ट क्लियरेंस मिला। 15 प्रस्ताव खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र से जुड़े हैं। पांच हजार से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष और इसके करीब तीन गुना लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। विनिर्माण क्षेत्र की 10 इकाइयां, प्लास्टिक और रबड़ की तीन इकाइयां, अक्षय ऊर्जा और टेक्सटाइल से संबंधित एक-एक इकाई को फर्स्ट क्लीयरेंस दी गई है।

दो दर्जन से अधिक प्रस्ताव जल्द: इथेनॉल के क्षेत्र में निवेश की यह तो शुरुआत ही है। दो दर्जन से अधिक प्रस्ताव जल्द आने वाले हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार में इथेनॉल क्रांति होगी। – शाहनवाज हुसैन, उद्योग मंत्री

Source: Daily Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *