स्मार्ट पटना पर काम शुरू, PMCH में बनेगा हेलीपैड, 4 जगहों पर बनेंगे EXCLATOR फुटओवर ब्रिज

खबरें बिहार की

पटना: राजधानी के प्रमुख चौराहों पर एस्केलेटर फुटओवर ब्रिज बनाए जाएंगे। इसके लिए जगह चिह्नित कर ली गई है। वहीं हरेक वार्ड में ई टॉयलेट लगाए जाएंगे और सामुदायिक शौचालय बनेंगे।

डाकबंगला-करगिल चौक पर फुटओवरब्रिज
राजधानी के प्रमुख चौराहों पर एस्केलेटर युक्त फुटओवर ब्रिज बनाए जाएंगे। इसके लिए जगह चिन्हित कर ली गई है। वहीं हरेक वार्ड में ई टॉयलेट लगाए जाएंगे और सामुदायिक शौचालय बनेंगे। ई-टॉयलेट 15 वर्ग मीटर में बनेगा।गुरुवार को पटना स्मार्ट सिटी के लिए हुई समीक्षा बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में पटना जंक्शन से गांधी मैदान के बीच के घरों और दुकानों में वाटर मीटर लगाने का भी निर्णय लिया गया।

गांधी मैदान से पटना जंक्शन के बीच का इलाका एरिया बेस्ड डेवलपमेंट में शामिल है। इसके अलावा बैठक में डाकबंगला चौराहा, करगिल चौक, सेंट जेवियर्स स्कूल और आयकर गोलम्बर के पास फुट ओवरब्रिज के साथ-साथ एस्केलेटर लगाया जाएगा। इससे लोगों को पुल के जरिये सड़क पार करने में सहूलियत होगी। एस्केलेटरयुक्त फुटओवर ब्रिज के लिए टेंडर निकाला जाना है।

पीएमसीएच की इमरजेंसी बिल्डिंग पर बनेगा हेलीपैड
पीएमसीएच की इमरजेंसी बिल्डिंग की छत पर हेलीपैड बनाया जाएगा ताकि विशेष परिस्थिति में एयर एंबुलेंस की सेवा ली जा सके। एयर एंबुलेंस के लिए राज्य में किसी इमारत की छत पर यह पहला हेलीपैड होगा। गुरुवार को पीएमसी विभागाध्यक्षों की बैठक में इस पर चर्चा हुई। प्राचार्य डॉ. वीके गुप्ता ने बताया कि पीएमसीएच में हाईटेक सुविधाएं, बेड की जरूरत और अन्य सुवधाओं पर चर्चा की गई।

प्राचार्य ने बताया कि मेडिसीन, न्यूरोलॉजी और न्यूरो सर्जरी विभाग को एक ब्लॉक में लाया जाए। वहीं इमरजेंसी की आईसीयू में मरीजों के ले जाने और डेड बॉडी निकालने के लिए अलग-अलग प्रवेश और निकास द्वार होना चाहिए। प्राचार्य ने बताया कि एक और प्रस्ताव यह आया है कि रेडियोथेरेपी यूनिट को शिफ्ट किया जा सकता है कि नहीं।

गांधी मैदान-स्टेशन इलाके में वाटर मीटर
प्रमंडलीय आयुक्त ने प्रोजेक्ट मैनेजेमेंट कन्सलटेंट कंपनी ‘इप्तिसा’ को दो डीपीआर तैयार कर टेंडर निकालने का निर्देश दिया है। इसमें पहला डीपीआर स्टेशन, ऑर ब्लॉक, गांधी मैदान आदि इलाकों (एबीडी एरिया) में वाटर मीटर लगाने और दूसरा डीपीआर अदालतगंज तालाब के सौंदर्यीकरण के लिए बनाया जाना है। आयुक्त ने कार्यपालक अभियंता बुडको को निर्देश दिया कि अदालतगंज तालाब के सौन्दर्यीकरण से संबंधित बुडको द्वारा किये गये सारे कार्यों के कागजात प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कन्सल्टेंट कंपनी को सौंप दें।

मंदिरी नाला का कागजात सौंपेगी बुडको 
आयुक्त ने बुडको के कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि मंदिरी नाला से संबंधित सर्वे डाटा एवं किये गये सारे कार्यों के कागजात पीएमसी को तीन दिनों के अंदर उपलब्ध कराएं। कागज मिलने के बाद पीएमसी स्मार्ट रोड के ‘स्पेशिफिकेशन’ के अनुरूप इसका डीपीआर तैयार किया जाए।

source: live bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.