बिहार की वो महिलाएं जिन्होंने दिखा दिया कि बिहार की महिलाएं किसी से कम नहीं !

एक बिहारी सब पर भारी

आज हम बात करेंगे उन तमाम बिहारी महिलाओं की जो बिहार से निकलकर कहीं ना कहीं सामाजिक तौर सफलता के शीर्ष पर हैं। वो सफलता जो किसी के लिए मिसाल तो किसी के लिए प्रेरणा है।

1. श्वेता सिंह : आज तक की जानी मानी एंकर हैं। जो बिहार की राजधानी पटना से निकलकर उस मुकाम तक पहुंची हैं। एकदम अनोखा अंदाज़ और दमदार आवाज के साथ जब कभी भी श्वेता सिंह न्यूज एंकरिंग करती हैं। तो ऐसा लगता है जैसे मानो बिहार बोल रहा हो। श्वेता बिहार की सभी लड़कियां के लिए प्रेरणा हैं।

2. सिंजनी कुमार : जब Paytm ने सिंजनी कुमार को सीईओ के रूप में चुना उस वक़्त में बिहार में खुशी की लहर दौड़ गई। पटना विमेंस कॉलेज की छात्रा ने ना सिर्फ बिहार का बल्कि पूरे देश का नाम रौशन किया ।

3.गुंचा सनोबर : गुंचा सनोबर ना मात्र सफल हुई है बल्कि राज्य के मुस्लिम समाज की महिलाओं के लिए सबक भी बनी है। गुंचा ने बिहार की पहली मुस्लिम महिला आईपीएस अधिकारी बनकर एक इतिहास लिख दिया। उनका इस मुकाम पर पहुंचना उनके संघर्ष और सफलता की पूरी कहानी सुनाता है।

4.खुशबू मिश्र झा : इस साल खुशबू ने मेडिकल टॉप कर के इतिहास लिख दिया। शादी शुदा होते हुए भी खुशबू ने मेडिकल में गोल्ड मेडल जीतकर खुद को साबित किया और साथ ही साथ नहीं बिहार का नाम रौशन भी।

5.जया देवी : एक मामूली सी घरेलू औरत जब ग्रीन लेडी ऑफ बिहार के नाम से जाने जाने लगी तभी उन्होंने साबित किया कि एक बिहारी सब पर भारी! पर्यावरण की सुरक्षा के लिए जया को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के द्वारा नेशनल लीडरशिप का अवॉर्ड मिल चुका है। साथ ही भारत सरकार द्वारा युवा पुरूस्कार से भी नवाजा गया है। दक्षिण कोरिया के एक कार्यक्रम में उन्होंने भारत का प्रतिंधित्व किया था।

6.शारदा सिन्हा: बिहार की कोकिला, जिनके छठ के गीत घर घर में सुनाई देते हैं। इस बार उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है। अपनी मीठी आवाज से उन्होंने बिहार वासियों के दिल में एक अलग जगह बना कर रखी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *