बिहार में लॉकडाउन-4 की घोषणा के साथ छूट का दायरा बढ़ा, जानिये पूरी गाइडलाइन

खबरें बिहार की

पटना: बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव को लेकर लागू लॉकडाउन आठ जून तक बढ़ा दिया गया है। हालांकि दो जून से कुछ ढील दी गई है। इसके लिए सोमवार की सुबह मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में फैसला लिया गया। इसके पहले मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने आगामी आठ जून तक लॉकडाउन को बढ़ाने की औपचारिक घोषणा कर दी। अगले लॉकडाउन में पाबंदियों में कुछ ढ़ील के साथ अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो रही है। छूट का दायरा बढ़ाया गया है।

व्‍यापार में कुछ छूट दी गई है। दुकानें अब दोपहर दो बजे तक खुलेंगी। उन्‍हें ऑड-इवन फॉर्मूले के आधार पर खोला जाएगा। सरकारी कार्यालय सायं चार बजे तक 25 फीसदी कर्मचारियों के साथ खोले जा सकेंगे। लेकिन शादी समारोह और श्राद्धकर्म में कोई छूट नहीं दी गई है। शिक्षण संस्‍थान भी बंद ही रहेंगे। लॉकडाउन-3 के एक जून को समाप्त हाने के बाद दो जून से ये प्रावधान लागू हो जाएंगे। 

दुकानों के खुलने का समय बढ़ा
लॉकडाउन की नई गादडलाइन के अंतर्गत दुकानों को खोलने का समय कुछ और बढ़ाया गया है। अभी सुबह चार घंटे ही दुकानें खोलने की छूट दी गई है। दो जून से दुकानें सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक खुली रहेंगी। खाद्य सामग्री, दूध, मांस व अन्य दुकानों के अतिरिक्त कुछ अन्य प्रतिष्ठानों को भी छूट के दायरे में लाया जा सकता है। कृषि संबंधी दुकानें खुली रहेंगी।

ऑड-इवन फॉर्मूला से खुलेंगी दुकानें
दुकानों को ऑड-इवन फॉर्मूला के आधार पर खोलने की छूट दी जा सकती है। अर्थात् कुछ दुकानें सोमवार, बुधवार और शुक्रवार खुलेगी तो कुछ मंगलवार, बृहस्पति और शनिवार को। संबंधित डीएम स्थानीय स्तर पर इसे तय करेंगे

मास्‍क व सैनिटाइजर का प्रयोग अनिवार्य 
सभी दुकानों को मास्क व सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल अनिवार्य रूप से करना है। साथ ही शारीरिक दूरी का भी पालन करना होगा। इसमें लापरवाही होने पर डीएम अस्थाई तौर पर दुकान को बंद कर सकते हैं।

कायालयों के कामकाज में मिली छूट
सरकारी कार्यालयों के कुछ और विभागों को भी छूट के दायरे में लाते हुए वहां नए नियमों के तहत कामकाज शुरू करने की इजाजत दी जा सकती है। कई सरकारी कार्यालय 25 फीसद कर्मियों के साथ सायं चार बजे तक खोले जाएंगे। डीएम अपने स्तर से स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार प्रावधानों को और सख्त कर सकते हैं। हालांकि, उन्‍हें शिथिल करने का अधिकार उनके पास नहीं होगा।

पहले की तरह रहेंगे अन्‍य प्रवाधान
उपरोक्‍त के अलावा लॉकडाउन के अन्‍य प्रावधान पहले की तरह ही रहेंगे। शिक्षण संस्‍थान व निजी कार्यालय पहले की तरह बंद रहेंगे। धार्मिक स्थल भी बंद रहेंगे। शादी समारोह व श्राद्ध में पहले की तरह 20 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति रहेगी। शादी में बारात व डीजे की अनुमति नहीं रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *