विश्व दयालुता दिवस पर जानें दया की पांच शक्तियां, जिनसे बदल सकती है दुनिया

खबरें बिहार की जानकारी

कहते हैं कि आप जिंदगी में कितनी भी उपलब्धियां हासिल कर लें लेकिन अगर आपके मन में दूसरों के लिए दयाभाव नहीं है, तो फिर आप बेहतर इंसान नहीं बन सकते। जैसे, कोई जानवर अगर आपके सामने भूखा है और आप खाना होते हुए भी एक रोटी का टुकड़ा तक नहीं दे सकते, तो फिर आपकी उपलब्धि या इंसान होने का कोई मतलब नहीं रह जाता। दया के लिए हमें किसी खास का होने की जरूरत नहीं है बल्कि एक अच्छा मनुष्य होना ही काफी है। मन में हमेशा प्रत्येक जीव के लिए दयाभाव रखना ही चाहिए। इससे दुनिया बेहतर बनती है। साथ ही भगवान भी आपसे खुश होते हैं। संसार में जितने भी बड़े लोग हुए हैं, उनके मन में दया जैसे सकारात्मक भाव ने ही उन्हें हमेशा के लिए अमर कर दिया। आप भी बोझिल होती इस दुनिया में मन में दया रखकर ही बदलाव ला सकते हैं।

आत्मविश्वास बढ़ता है
कई लोगों को लगता है कि दया कमजोरी है जबकि दया एक ऐसी शक्ति है, जो आपको अंदर से मजबूत बनाती है। आप किसी पर दया करके अगर उसे समझते हैं या माफ करते हैं, तो इससे आपका मजबूत व्यक्तित्व झलकता है।

दूसरों के दुख को समझना 
सही-गलत की जजमेंट से ज्यादा आपको इंसान की स्थितियों को समझना बहुत जरूरी हो जाता है। एक नरम दिल दया से भरा इंसान ही किसी के दुख को समझ सकता है। किसी के दुखों को समझना आपको बेहतर इंसान बनाता है। यह एक प्राकृतिक उपहार भी है।

क्रूर दुनिया बदल सकती है
दया इसलिए जरूरी नहीं है क्योंकि आपको दुनिया के सामने अच्छा बनना है, बल्कि इसलिए जरूरी है क्योंकि आपको दुनिया की अच्छाई करनी है। दया से ही क्रूर दुनिया में बदलाव लाया जा सकता है।

आप संवेदनशील बनते हैं 
दया का अर्थ यह नहीं है कि आप सिर्फ अपने लोगों पर ही दया करेंगे बल्कि आपको हर इंसान, जानवर बल्कि हर जीव के प्रति संवेदनशील बनना चाहिए। इससे ही दुनिया बेहतर बन सकती है।

 

आप गलत काम करने से बचते हैं 
कभी-कभी ऐसा होता है कि आपको बहुत ज्यादा गुस्सा आ जाता है। ऐसे में हम गुस्से में आकर कुछ गलत कर बैठते हैं इसलिए बहुत जरूरी है कि हम मन में दयाभाव रखें और सिचुएशन को नरमी के साथ डील करें। दया हमें बेहतर इंसान बनाती है और कुछ गलत करने से रोकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.