बिहार की जनता को कब से मिलेगी कोरोना वैक्सीन? CM नीतीश ने दिया ये जवाब

खबरें बिहार की

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार में उपयोगी और प्रभावी ढंग से कोरोना का टीकाकरण कराया जाएगा। इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। कहां पर टीका (वैक्सीन) रखा जाएगा, एक से दूसरे जगह कैसे ले जाया जाएगा, कहां पर टीकाकरण होगा, एक-एक चीज की तैयारी की गई है। मुख्यमंत्री मंगलवार को अधिवेशन भवन में जल-जीवन-हरियाली अभियान के कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का टीका को देश में भी तैयार हो गया है। अभी तत्काल जहां जरूरत है, वहां शुरू किया जाएगा। इसके बाद तो बड़े पैमारे पर पूरे देश में इसका इस्तेमाल होगा। बिहार में भी पहले जितने हमारे डॉक्टर और उनके साथ काम करने वाले अन्य लोग हैं, उनका टीकाकरण पहली प्राथमिकता में है। उसके बाद पुलिस और प्रशासन के लोग और तमाम जनप्रतिनिधि है, सबलोगों का टीकाकरण होगा। इसके अलावा जितने लोग भी पीड़ित रहे हैं, सबतक यह पहुंचेगा। सीएम ने कहा कि केंद्र सरकार के दिशा निर्देश हैं कि पहले दौर में 50 साल से ऊपर उम्र वालों को वैक्सीन देनी है। साथ ही जो कोरोना से संक्रमित रहे हैं, जो दूसरे उम्र के भी हैं, उनका टीकाकरण होगा।

बिहार में कोरोना के खिलाफ जंग में टीकाकरण की तैयारी शुरू हो गयी है और इसका ड्राई रन (पूर्वाभ्यास)  भी हो चुका है। बिहार में एक दिन में एक बूथ पर सौ लोगो को कोरोना का टीका दिया जा सकेगा। स्वास्थ्य विभाग के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, पूर्वाभ्यास के वक्त रियल टाइम मॉनिटरिंग के दौरान पाया गया कि एक व्यक्ति को कोरोना टीका देने में पांच मिनट लग रहा है। ऐसे में एक सौ लोगों को टीका देने में साढ़े आठ घंटा लगेगा। ऐसे में एक दिन में एक बूथ पर एक सौ लोगों को ही पूरे एहतियात के तहत कोरोना का टीका दिया जा सकेगा।

14 हजार 724 वैक्सीनेटर हुए प्रशिक्षित
स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के अनुसार, राज्य में 14 हजार 724 प्रशिक्षित वैक्सीनेटर हैं, जो पहले से टीकाकरण का कार्य कर रहे हैं। सभी वैक्सीनेटर कोविड-19 के वैक्सीनेशन के लिए प्रशिक्षित किये जा चुके हैं। इसके अतिरिक्त कोविड पोर्टल पर राज्य में 64 हजार 568 पोटेंसियल वैक्सीनेटर चिह्नित कर लिये गये हैं, जिनका योगदान आगे लिया जा सकता है। इनमें चिकित्सक एवं अन्य कर्मी शामिल हैं।

पहले चरण में 768 संस्थान टीकाकरण के लिए चिह्नित 
स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार, प्रथम चरण में 700 सरकारी संस्थान एवं 68 निजी संस्थान का चयन टीकाकरण के लिए किया गया है। पांच सदस्यीय दल द्वारा एक बूथ पर कोरोना पोर्टल पर निबंधित 100 लोगों का टीकाकरण किया जायेगा। हर व्यक्ति को दो बार टीका पड़ेगा। पहले टीके के 28 दिन बाद दूसरा टीका दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.