प्रधानमंत्री की अपील के बाद लोग 5 तारीख यानी कल दीये और मोमबत्ती जलाने की तैयारी में हैं लेकिन दीये जलाने से पहले भारतीय सेना ने लोगों को खास सावधानी बरतने को कहा है, उन्होंने अपने जारी किये गए बयान में कहा है कि लोग जब मोमबत्ती और दीये जलाने से पहले अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर नहीं इस्तमाल न करें, लोगों को कहा गया है कि उसके बजाय साबुन से हाथ धोयें.

भारतीय सेना का इस तरह अपील करने का मकसद यही है क्योंकि अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर बहुत ज्वलनशील होता है, जरा से असावधानी हमें कोई बड़ा हादसा में धकेल सकता है, बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए 21 दिनों के लॉकडाउन के बीच लोगों से अपील की है वे 5 अप्रैल यानी कल अपने घरों की बिजली बंद कर दीये जलाएं.

कोरोना वायरस के बढ़ते हुए प्रभाव के कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन में कहा था कि कोरोना वायरस अल्कोहल युक्‍त सेनेटाइन से निष्क्रिय हो जाता है. लेकिन यदि ऐसा सेनेटाइजर अगर आग के संपर्क में आता है, तो हादसा हो सकता है. इस अनजान खतरे से भारतीय सेना ने पहले ही लोगों को सचेत कर दिया है.

गौरतालब है कि कोरोना का मामला भारत में तेजी से बढ़ते ही जा रहा है, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आँकड़े के अनुसार भारत में 2902 मामले अब तक सामने आ चुके हैं, जबकि पूरे देश में इससे मरने वालों की संख्या 68 है. बता दें कि अमेरिका में पिछले 24 घंटों में 1400 से ज्यादा लोगों की मौत हो गयी है कोरोना के इसी बढ़ते हुए मामले के कारण लोग ज्यादा भयभीत होते जा रहे हैं इसी को ध्यान में रखते हुए प्रधान मंत्री ने 5 अप्रैल को दीये जलाने का आह्वान किया था, ताकि कोरोना के अंधकार से लोगों कुछ राहत मिले और लोग इस डर माहौल में न रहकर सावधानी बरतें.

Sources:-Prabhat Khabar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here