बिहार में धीमी हुई वैक्सीन की रफ्तार: 11 जिलों में नहीं लगा एक भी टीका, 10 जिले में 100 से कम लगे टीके

खबरें बिहार की

पटना: बिहार में टीके की कमी ने टीकाकरण के महाभियान को पूरी तरह प्रभावित कर दिया है। मंगलवार को राज्य में रात आठ बजे तक जारी आंकड़ों के हिसाब से केवल 35646 लोगों को टीका लगा। जबकि टीकाकरण केंद्रों की संख्या भी सिर्फ 694 रही। जबकि 11 जिले ऐसे थे जहां टीकाकरण का आंकड़ा शून्य रहा। 10 जिलों में सौ से भी कम टीके लगे। राज्य में 21 जून को टीकाकरण का महाभियान राज्य सरकार ने शुरू किया था।

पहले दिन 7.29 लाख टीकाकरण करके बिहार ने सबको चौंकाया, मगर अगले ही दिन से राज्य में टीकाकरण का ग्राफ नीचे गिरने लगा। इसकी मुख्य वजह थी टीके की कमी। महाभियान के तहत राज्य में छह माह में छह करोड़ लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। इसे पाने के लिए हर रोज 3.30 लाख लोगों के औसत से टीकाकरण करना होगा। मगर बिहार द्वारा मंगवाए जाने वाले टीके का कोटा खत्म होने के बाद से टीकाकरण की रफ्तार बिल्कुल मंद हो गई है।

मंगलवार को जिन 11 जिलों में एक भी टीका नहीं लगा, उनमें सहरसा, पूर्णिया, कटिहार, अरवल, मुंगेर, सीतामढ़ी, शेखपुरा, दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, बेगूसराय शामिल हैं। टीका न होने के चलते केंद्रों की संख्या भी लगातार घटती जा रही है।

21 जून को जहां राज्य में 6000 से अधिक टीकाकरण केंद्रों पर टीके लगे थे। वहीं मंगलवार को यह संख्या महज 694 थी। राजधानी पटना के भी तमाम केंद्रों पर टीकाकरण नहीं हुआ। रात आठ बजे तक के आंकड़ों के हिसाब से पटना में हुए 19989 टीकाकरण को छोड़ दें तो बाकी कोई जिला 4000 का आंकड़ा भी नहीं छू सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published.