उत्तराखंड में लगा वीकेंड प्रतिबंध, पर्यटक स्थलों पर बेतहाशा बढ़ती भीड़ देख किया फैसला

राष्ट्रीय खबरें

अगर आप वीकेंड पर मसूरी या फिर उत्तराखंड के किसी हिल स्टेशन जाने का प्लान कर रहे हैं तो यह खबर आपके लिए जरूरी है. अगर आपने शनिवार या रविवार या दोनों दिन के लिए पहले से होटल में बुकिंग नहीं कराई है, तो आपको सिटी में एंट्री नहीं मिलेगी. दरअसल, लॉकडाउन में मिली छूट के बाद उत्तराखंड के पर्यटक स्थलों पर बेतहाशा बढ़ती भीड़ तो देखकर इस तरह का फैसला किया गया है. मसूरी के लोकल लोगों को तो छूट मिली रहेगी, लेकिन बाहर से आने वाले पर्यटकों पर सख्ती बरती जाएगी. राज्य में एंट्री के लिए पर्यटकों के पास उनकी कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट का होना अनिवार्य है.

टिहरी के कैंप्टी फॉल में सैकड़ों पर्यटकों के पहुंचने और कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करने की शिकायत के बाद डीएम इवा आशीष श्रीवास्तव ने सख्त निर्देश जारी किया है. आदेश के मुताबिक, एक बार में 50 पर्यटक ही कैंप्टी फॉल जा पाएंगे और उन्हें पूल में आधे घंटे का टाइम दिया जाएगा.

कोविड गाइडलाइन के अनुसार, पर्यटकों के पास कोविड टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट का होना अनिवार्य है. उन्हें मास्क, सैनेटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. जांच के लिए चेक पोस्ट बना दिए गए है. डीएम का कहना है कि यदि पर्यटकों और स्थानीय लोगों द्वारा प्रशासन का सहयोग नहीं किया और कोविड गाइड लाइन का पालन नहीं किया तो कैंप्टी फॉल को बंद करने पर भी विचार किया जाएगा.

पर्यटन स्थलों पर बढ़ रही भीड़ को नियंत्रण करने के लिए पुलिस सख्त रूप अपनाने जा रही है. डीआईजी निलेश भरणे ने बाहरी राज्यों से आनेवाले लोगों से अपील की है कि कोरोना महामारी के चलते टूरिस्ट सीमित संख्या में आएं और कोविड गाइडलाइंस का पालन करें. उन्होंने राज्य के सभी जिला एसएसपी, एसपी को भी आदेशित करते हुए कहा कि अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की RTPCR और रजिस्ट्रेशन बॉर्डर पर ही चेक कर लें और जिनके पास नहीं है, उन्हें वापस जाने को कहें. वही पर्यटन स्थलों में भीड़ की स्थिति को देखते हुए रूट डाइवर्ट भी किया जाएगा. बताते चलें कि उत्तराखंड में भारी संख्या में अन्य राज्यों से पर्यटक पहुंच रहे हैं, जिसको लेकर उत्तराखंड पुलिस सख्ती करने जा रही है.

हाईकोर्ट की फटकार और सरकार की सख्ती का असर अब सड़कों पर दिखने लगा है. नैनीताल जिले के बॉर्डर हल्द्वानी में भी पुलिस चेकिंग की जा रही है. हल्द्वानी के चौकी इंचार्ज बॉर्डर संजीत राठौर का कहना है कि दूसरे राज्यों से आने वाले पर्यटकों की भीड़ के कारण बॉर्डर पर सख्ती की जा रही है. बाहर से आने वाले पर्यटकों की गाड़ियां उनके डेस्टिनेशन तक बिना रोक-टोक के पहुंचें, इसके लिए बकायदा पुलिस ने अलग-अलग जगहों के स्टीकर बनाए हुए हैं, जो बॉर्डर सेंटर पार करते ही इन गाड़ियों पर चिपका दिए जा रहे हैं, ताकि पर्यटकों को जगह-जगह पुलिस नाके पर न रोकना पड़े.

Leave a Reply

Your email address will not be published.