उत्तर बिहार में मौसम ने अचानक ली करवट, आंधी-पानी से तीन लोगों की मौत

खबरें बिहार की जानकारी

उत्तर बिहार में मंगलवार की देर शाम मौसम ने अचानक करवट ली और कई जिलों में आंधी-पानी के साथ जमकर ओले गिरे। पश्चिम चम्पारण से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला रात बढ़ने के साथ पूर्वी चम्पारण से शिवहर-सीतामढ़ी होते हुए मधुबनी तक पहुंच गया। तेज हवा के कारण जिलों मे बिजली व्यवस्था चरमरा गई। कई इलाकों में ब्लैक आउट हो गया। दरभंगा में भी कुछ जगहों पर हल्की बारिश हुई। इस दौरान तेज हवा चलती रही।

इस बीच आंधी-पानी की चपेट में आने से उत्तर बिहार में तीन लोगों की मौत हो गई। सीतामढ़ी व शिवहर में एक-एक व पश्चिम चंपारण के नरकटियागंज में एक व्यक्ति की जान चली गई। सीतामढ़ी के रीगा में खपरैल मकान गिरने से एक व्यक्ति व शिवहर के पिपराही में पेड़ गिरने से एक वृद्ध की मौत हो गई। नरकटियागंज के मलदहिया पोखरिया गांव में पेड़ गिरने से मलदहिया निवासी गोलू शर्मा (17) की मौत हो गई, जबकि विद्या सोनी का प्रेम सोनी (18) घायल हो गया। दोनों बाइक से घर लौट रहे थे।

पूर्वी चम्पारण में तेज आंधी-बारिश के साथ कई जगह ओलावृष्टि हुई। आंधी के कारण शहर के हवाई अड्डा रोड में पेड़ उखड़ कर मुख्य पथ पर गिर पड़ा। बारिश व ओला गिरने से खेत में काट कर रखे गए व लगी गेहूं की फसल को नुकसान हुआ है। पहाडपुर प्रखंड में भारी ओलावृष्टि तो हरसिद्धि, कल्याणपुर सहित अन्य प्रखंडों में के ओले गिरे। इधर, हल्की ओलावृष्टि हुई है। इधर,पश्चिम चम्पारण में आंधी-पानी के साथ जमकर ओलावृष्टि हुई। दस दिनों में तीसरी बार ओले के साथ हुई बारिश ने किसानों की कमर तोड़ दी। गेहूं के साथ-साथ आम, लीची को भी काफी क्षति हुई

Leave a Reply

Your email address will not be published.