उपेन्द्र कुशवाहा ने टिकट के बदले लिये थे 90 लाख, RCP के करीबी कन्हैया सिंह ने लगाया बड़ा आरोप

खबरें बिहार की जानकारी

आरसीपी सिंह के साथ ही जदयू से इस्तीफा देने वाले शिक्षा प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कन्हैया सिंह ने जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा पर टिकट के बदले 90 लाख रुपए लेने का आरोप लगाया। कहा है कि आरसीपी सिंह पर भ्रष्टाचार का किसी ने कोई आरोप नहीं लगाया है, लेकिन जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा पर स्पष्ट आरोप था।

कन्हैया सिंह ने कहा कि कुशवाहा की पार्टी रालोसपा के तत्कालीन महासचिव प्रदीप मिश्रा ने 2019 में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि टिकट देने का आश्वासन देकर उपेंद्र कुशवाहा ने उनसे 90 लाख रुपये लिए थे, लेकिन बाद में इस सीट को दूसरे से ज्यादा पैसे लेकर बेच दिया। प्रदीप मिश्रा ने उपेंद्र कुशवाहा द्वारा पैसा वसूलने का पूरा सबूत भी दिया था। उन्होंने 45-45 लाख के दो चेक दो किस्तों में उपेंद्र कुशवाहा के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की नई दिल्ली स्थित पार्लियामेंट शाखा के खाते में जमा करवाए थे। कन्हैया सिंह ने कहा कि पैसा वसूली जैसे गंभीर आरोपों में फंसे उपेंद्र कुशवाहा को जदयू संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया।

‘आरसीपी के बढ़ते कद से घबराहट’

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह की ओर से जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कन्हैया सिंह ने वीडियो जारी कर पक्ष रखा है। कहा कि आरसीपी सिंह के बढ़ते कद व उनके कार्यक्रमों में जुट रही अपार भीड़ से पार्टी के कुछ नेता घबराहट में हैं। इसलिए साजिश के तहत उनपर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। जिस जमीन को लेकर पार्टी ने नोटिस भेजा है, वह आरसीपी सिंह की पत्नी और दोनों बेटियों के नाम पर है। इनके द्वारा जमीन खरीदी गई और इनके खाते से राशि का भुगतान हुआ है। ये आयकर रिटर्न में भी अपनी आय का जिक्र करती रही हैं।

उपेंद्र कुशवाहा बोले- इसमें कोई दम नहीं

कन्हैया सिंह के आरोप को उपेन्द्र कुशवाहा ने सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि यह काफी पुराना मामला है। चुनाव के समय यह मामला उठा था और उन्होंने उसी समय अपनी बात रख दी थी। इसमें कोई दम नहीं था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.