UP बोर्ड में 10वीं की टॉपर अंजली को मैथ्स में मिले पूरे 100 में 100

राष्ट्रीय खबरें

यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 का रिजल्‍ट आज दोपहर करीब 12:30 घोषित कर दिया गया। इस बार 10वीं में इलाहाबाद की अंजली वर्मा ने परचम लहराया है। उन्हें सभी विषयों में 90 से ज्यादा मार्क्स मिले हैं जिनमें सबसे ज्यादा अंक गणित में 100/100 मिले।

टॉपर्स के इतने अच्छे नंबर देखकर लोगों के मन यह उत्सुकता होती है कि उनकी मार्कशीट कैसी होगी। लोग जानना हैं कि टॉपर को किस विषय में कितने नंबर मिले? तो हम आपको यूपी बोर्ड में 10वीं की टॉपर अंजली वर्मा और 12वीं के टॉपर रजनीश शुक्ला की मार्कशीट दे रहे हैं।

टॉपर्स की मार्कशीट देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि हर विषय में किस तरहस से उन्होंने जबरदस्त तैयारी की होगी और इसके लिए दिन -रात एक कर दिया होगा।

अंबेडकर नगर जिले के इयाकी सूबेदार का पूरा गांव निवासी किसान आशाराम वर्मा की बेटी अंजली ने सपने में भी नहीं सोचा था कि वह कभी यूपी टॉप करेगी। अंजली ने इस मुकाम तक पहुंचने में घर से स्कूल तक के माहौल और पढ़ाई की अपनी रणनीति तक के अनुभवों को साझा किया। पढ़ाई के लिए ही माता-पिता ने गांव से दूर इलाहाबाद भेज दिया।

इविवि से स्नातक कर रही बड़ी बहन दीक्षा के साथ सलोरी में किराये के कमरे में रहकर पढ़ाई करने वाली अंजली इस कामयाबी का श्रेय माता, पिता , बहन, भाई और अपने शिक्षकों को देती हैं। उन्होंने बताया कि स्कूल की पढ़ाई ही उनके काम आई। माता-पिता जिस भरोसे के साथ पेट काटकर पढ़ाई के लिए उसे प्रोत्साहित करते रहे, उस भरोसे को हमेशा जीतने की चिंता करती रही। रोज चार बजे उठना और छह से सात घंटे पढ़ाई करना उसका नियम था।

इस साल यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षाओं में फतेहपुर के रजनीश शुक्ला और बाराबंकी के आकाश मौर्य ने 93.20 पर्सेंट अंक पाकर संयुक्त रूप से पहला स्थान प्राप्त किया है। इन दोनों को ही कुल 466 अंक मिले हैं। गाजीपुर की अनन्या राय ने 92.6 पर्सेंट अंक पाकर दूसरा जबकि मुरादाबाद के अभिषेक कुमार और बाराबंकी के अजित पटेल ने 92.2 पर्सेंट अंक पाकर संयुक्त रूप से तीसरा स्थान प्राप्त किया है।

कॉलेज में कोई भी कक्षा खाली नहीं रहती थी। उन्होंने भी रोज कॉलेज आने के साथ ही कोई कक्षा छोड़ी नहीं। कक्षा में पढ़ाए जाने वाले विषयों के नोट बनाकर घर पर नियमित दोहराती रही। उनका कहना है कि कोई भी छात्र-छात्रा अगर नियमित रूप से क्लास करें औरकक्षा में पढ़ाए जाने वाले विषयों का रिवीजन करते रहें तो सफलता जरूर हासिल होगी।

अंजली की सफलता के सूत्र
-टाइम टेबल बनाकर हर विषय को समान रूप से बांट कर अध्ययन
-5-7 घंटे तक नियमित पढ़ाई
-रोज कॉलेज जाना, कोई क्लास नहीं छोड़ना। कक्षा में पढ़ाए गए विषयों का नोट बनाकर याद करना।

परीक्षा परिणाम को लेकर अंजली की की नींद उड़ी हुई थी। रविवार की दोपहर स्कूल की प्रिंसिपल रजनी शर्मा ने जब उसे यूपी में टॉप करने की जानकारी दी, तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। कुछ देर में ही अंजलि को बधाई देने वाले शिक्षिक-शिक्षिकाओं, शुभेच्छुओं और छात्र-छात्राओं का तांता लग गया। गेंदा-गुलाब की मालाओं से गला लद गया। स्कूल परिसर में प्रबंधक रणजीत सिंह बैंड बाजा बजवाने लगे। कॉलेज में उत्सव का माहौल बन गया।

इस बार यूपी बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में कुल 36,56,272 छात्रों ने अप्लाई किया था जिसमें से कुल 22,76,445 छात्र पास हुए हैं। हाईस्कूल में इस बार भी लड़कियों ने बाजी मारी है। हाईस्कूल में कुल 78.81 पर्सेंट छात्राएं जबकि 72.27 पर्सेंट छात्र पास हुए हैं। इस तरह 10वीं के रिजल्ट में पास होने वाली लड़कियों की संख्या लड़कों से 6.54 पर्सेंट अधिक है।

दूसरी तरफ, इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 29,82,996 स्टूडेंट्स ने अप्लाई किया था जिसमें से कुल 26,04,093 छात्र परीक्षा में शामिल हुए और कुल 18,86,050 छात्र अंतिम रूप से 12वीं की परीक्षा में सफल रहे। इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में 78.44 पर्सेंट छात्राएं और 67.36 पर्सेंट छात्र सफल रहे। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी सफल छात्रों को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.