यूपी-बिहार में छठ पूजा पर चार दिन क्राइम रेट क्यों हो जाता है जीरो

प्रेरणादायक

दिवाली के बाद अब देशभर में छठ पूजा की तैयारियां जोरों पर है। वहीं बिहार और यूपी में छठ पूजा को लेकर लोगों में गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है। बता दें कि दोनों राज्यों में छठ पूजा धूमधाम से मनाई जाती है। इसको लेकर यूपी और बिहार की पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर लिए हैं। हालांकि इस दौरान लोगों से कोरोना नियमों का पालन करने की अपील भी की गई है।

अपराध हो जाता है जीरो

बता दें कि हर वर्ष दिवाली से छठे दिन छठ पूजा का आयोजन होता है। इस वर्ष छठ पूजा 10 नवंबर दिन बुधवार को है। यह व्रत मुख्यत: तीन दिनों का होता है। इस दिन सूर्य देव की पूजा होती है, इसलिए इसे सूर्य षष्ठी भी कहा जाता है। बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश समेत देश के कई हिस्सों में का त्योहार मनाया जाता है। इस त्योहार को लेकर राज्यों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाते हैं। यही वजह है कि छठ पूजा के दौरान चार दिनों तक यूपी और बिहार में क्राइम रेट जीरो हो जाता है।

 

यूपी में छठ पूजा की तैयारियां

अगर यूपी में छठ पूजा की तैयारियों की बात करें तो राज्य सरकार और पुलिस इसको लेकर काफी सख्त नजर आ रही है। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी और डीजीपी मुकुल गोयल ने कानून-व्यवस्था की समीक्षा की और कई कड़े निर्देश दिए। इसके साथ ही संवदेनशील क्षेत्रों की सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर विशेषकर चर्चा की गई और ऐसे सभी स्थानों पर पूरी सतर्कता बरते जाने का निर्देश दिया। इसके साथ ही पुलिस हिस्ट्रीशीटर अपराधियों पर भी नजर बनाए हुए हैं।

वहीं बिहार में छठ पूजा के लिए पुलिस ने पूरी तरह से कमर कस ली है। बिहार पुलिस के अधिकारियों की ओर से लगातार स्थिति और तैयारियों की समीझा की जा रही है। बता दें कि दिवाली और छठ पूजा को देखते हुए डीजीपी एसके सिंघल के आदेश पर एडीजी विधि-व्यवस्था विनय कुमार ने छुट्टी पर रोक लगाने से संबंधित पत्र जारी कर दिया है।

 

बता दे कि दीपावली, काली पूजा और छठ महापर्व के अवसर पर विधि-व्यवस्था और सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए बिहार पुलिस ने अवकाश पर रोक लगा दी है। 1 से 12 नवम्बर तक पुलिस अधिकारियों और जवानों के सभी प्रकार के अवकाश पर रोक रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.