जेल में हुई अनोखी शादी, कर्मचारी बने मेहमान, दूल्हा-दुल्हन को देखने उमड़ी भीड़

खबरें बिहार की

पटना: जमुई मंडलकारा में बंद विचाराधीन कैदी व्यास पांडेय की शादी जेल परिसर में ही स्थित एक मंदिर में सोमवार को संपन्न हुई. कोर्ट के आदेश पर हुई शादी में मंडलकारा के अधिकारी और सुरक्षाकर्मी के साथ लड़की के परिजन और दोस्त शामिल हुए. दरअसल, दूल्हा बना कैदी व्यास पांडेय यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद है.

जमुई जिले के गिद्धौर थाना में दर्ज मामले के आधार पर 4 सितंबर 2017 को व्यास पांडेय गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. जो लड़की दुल्हन बनी उसके ही परिजनों द्वारा दर्ज कराये गए मामले में व्यास जेल में बंद है.

गिद्धौर प्रखंड के गुगुलडीह का रहने वाला व्यास पांडेय और गेनाडीह की निभा कुमारी एक दूसरे को प्यार करते थे, लेकिन लड़की और लड़के वालों के परिवार को मंजूर नहीं था. लड़की के घरवालों की शिकायत के बाद व्यास को अभियुक्त बनाकर जेल भेज दिया गया लेकिन कुछ दिनों बाद व्यास और निभा ने एक दूसरे को प्यार करने की बात कहते हुए न्यायालय से गुहार लगाई जिसके बाद कोर्ट ने दोनों की शादी करवाने का निर्देश दिया.

जेल परिसर में शादी के बाद कैदी व्यास पांडेय ने कहा कि हमलोग अपनी मर्जी से शादी कर रहे हैं. इसमे किसी का कोई दबाव नहीं है. अब दोनों मिलकर जिंदगी साथ-साथ गुजारना चाहते हैं. व्यास पांडेय के अनुसार यह शादी अंतर्जातीय है लिहाजा उनके घर वाले शादी में शामिल नहीं हुए लेकिन वो उन्हें भविष्य में मना लेगा.

लड़की की बुआ अनीता देवी ने कहा कि लड़का-लड़की मानने को तैयार नहीं थे तो हमलोग शादी के लिए तैयार हो गए. जेलर मनोज कुमार की माने तो फिलहाल कैदी को जमानत मिलने तक जेल में ही रहना पड़ेगा.

जमुई कोर्ट के आदेश पर जमुई मंडलकारा परिसर के मंदिर में शादी के बाद व्यास को फिलहाल जेल भेज दिया गया, उसे कोर्ट से जमानत लेना पड़ेगा. वहीं शादी के बाद दूल्हन अपने परिजन के साथ मायके चली गई
Source: live bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.