राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से अपने विनिर्माण कारोबार को अमेरिका लाने की बजाय भारत और आयरलैंड जैसे देशों में ले जाने की तैयारी कर रहीं एपल जैसी अमेरिकी कंपनियों पर नये कर लगाने की धमकी दी है. ट्रंप ने फॉक्स बिजनेस न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि कंपनियों को कर प्रोत्साहन दिया गया था, ताकि वे अपने विनिर्माण कारोबार को वापस अमेरिका लाएं.

उन्होंने कहा, ‘एपल ने कहा है कि अब वे भारत जाने वाले हैं. वे चीन से हटकर कुछ उत्पादन भारत में करने जा रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि अगर वे करते हैं, तो आप समझ लीजिए कि हम एपल को थोड़ा सा झटका देंगे, क्योंकि वे एक ऐसी कंपनी के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं, जो हमारे द्वारा किये गये व्यापार सौदे का हिस्सा थी.

उन्होंने कहा कि इसलिए यह एपल के लिए थोड़ा अनुचित है, लेकिन हम अब इसकी इजाजत नहीं देंगे. अगर हम दूसरे देशों की तरह अपनी सीमाओं को बंद कर लेंगे, तो एपल अपने शत-प्रतिशत उत्पादों को अमेरिका में ही बनाएगी.

न्यू यॉर्क पोस्ट के मुताबिक, एपल अपने उत्पादन के बड़े हिस्से को चीन से भारत स्थानांतरित कर रही है. चीन में घातक कोरोना वायरस महामारी के सामने आने के बाद वहां विनिर्माण करने वाली कई टेक कंपनियों की आपूर्ति शृंखला बाधित हो गयीं.

ट्रंप ने कहा कि इन कंपनियों को बात समझनी होगी, क्योंकि वे सिर्फ चीन नहीं जा रही हैं. आप देखिए वे कहां जा रही हैं. वे भारत जा रही हैं, वे आयरलैंड जा रही हैं और वे सभी जगह जा रही हैं, वे उन्हें बनाएंगी. उन्होंने कहा कि ऐसे में, आपको नहीं लगता है कि प्रोत्साहनों के संदर्भ में कुछ करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘मुझे ऐसा करना होगा.’

ट्रंप ने कहा, ‘बात स्पष्ट है, जब वे उत्पाद बाहर बनाते हैं, तो उस पर टैक्स लगाना एक उपाय है. हमें उनके लिए ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है. उन्हें हमारे लिए करना होगा. उन्होंने कहा कि वह विनिर्माण को अमेरिका में वापस लाना चाहते हैं.

Sources:-Prabhat Khabar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here