पटना से बनारस तक का सफर होगा आसान, 6 लेन की बनेगी आरा होते हुए सासाराम तक की सड़कें, मिला NH का दर्जा

खबरें बिहार की

पटना: बिहार की राजधानी पटना से अब वाराणसी की यात्रा आसान हो जायेगी. केंद्र सरकार ने बिहार को नयी सौगात दी है जिसके बाद अब पटना से आरा होते हुए सासाराम तक की नयी प्रस्तावित सड़क को नेशनल हाइवे का दर्जा दे दिया गया है. इस सड़क के लिए जल्द ही अब जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी.

पटना वाया आरा से सासाराम तक की नयी सड़क कुल 119 कीलोमीटर तक की होगी. इसमें 108 कीलोमीटर की सड़क ग्रीनफील्ड होगी यानी पूरी सड़क नयी होगी. यह सड़क कई जगहों पर फोर लेन तो कई जगहों पर 6 लेन की होगी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है और एलाइनमेंट भी तय कर दिया गया है.

यह सड़क पटना जिले में रिंग रोड़ के सदीसोपुर से शुरू होगी जो अंत में जाकर संझौली होते हुए सासाराम के सुअरा में जाकर एनएच-2 से जुड़ जायेगी. यही एनएच-2 वाराणसी जाने वाली सड़क से जाकर जुड़ती है. इस बीच पटना से यह अरवल होते हुए सोन नदी को पार कर भोजपुर के सहार से गुजरेगी. यहां छह लेन का एक पुल भी बनाया जायेगा.

इस नये सड़क का निर्माण दो फेज में बनेगा. पहले में पटना के सदीसोपुर से पाटर आसनी तक तो दूसरे में पाटर से सासाराम के सुअरा तक की सड़क बनेगी. वहीं सोन नदी पर बनने वाले छह लेन के पुल का अलग टेंडर किया जायेगा. इस प्रोजेक्ट में 35 सौ करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे. सबसे खास बात यह है कि अब नेशनल हाइवे घोषित किये जाने के बाद इस सड़क के जमीन अधिग्रहण का पेंच भी खत्म हो गया है.

इस सड़क से एक तरफ जहां पटना, अरवल, भोजपुर, रोहतास और सासाराम जिले जुड़ेंगे वहीं नौबतपुर, अरवल सहार, हसन बाजार, नोखा, पीरो व संझौली को इसका सीधा लाभ मिलेगा. जबकि पटना से वाराणसी तक का अब सफर भी आसान हो जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *