Important news- बारिश के कारण आज रद्द रहेंगी बिहार से गुजरने वाली 18 ट्रेनें

राष्ट्रीय खबरें

भारीबारिश बाढ़ के कारण समस्तीपुर मंडल में ट्रेनों का परिचालन अब भी बाधित है। 29 अगस्त को 18 ट्रेनें रद्द रहेंगी। पूर्व मध्य रेल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि 25909 लिंक एक्सप्रेस, 12423 डिब्रुगढ़-नई दिल्ली राजधानी, 12505 गुवाहाटी आनंद विहार नार्थ ईस्ट,

12523 न्यू जलपाईगुड़ी-नई दिल्ली एक्सप्रेस, 14055 ब्रह्मपुत्र मेल, 15483 महानंदा एक्सप्रेस, 15648 गुवाहाटी-लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस, 15653 अमरनाथ एक्सप्रेस, 15715 किशनगंज-अजमेर गरीबनवाज एक्सप्रेस, 15909 अवध असम एक्सप्रेस, 15933 डिब्रुगढ़-अमृतसर एक्सप्रेस,

22411 नाहरगुलान-नई दिल्ली एसी एक्सप्रेस, 15619 गया-कामाख्या एक्सप्रेस, 12236 नई दिल्ली-डिब्रुगढ़ राजधानी, 12424 नई दिल्ली-डिब्रुगढ़ राजधानी, 12506 आनंद विहार-गुवाहाटी नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस, 14056 दिल्ली-डिब्रुगढ़ ब्रह्मपुत्र मेल और 15484 दिल्ली-अलीपुर द्वार महानंदा एक्सप्रेस 29 अगस्त को रद्द रहेगी।

 

फिर हुआ रेल हादसा, दुरंतो एक्सप्रेस के इंजन समेत 10 डिब्बे बेपटरी

महाराष्ट्र के आसनगांव के पास आज (मंगलवार) सुबह नागपुर-मुंबई दूरंतो एक्सप्रेस के इंजन और नौ डिब्बे पटरी से उतर गए। यह जानकारी रेलवे के पीआरओ अनिल सक्सेना ने दी है।

अनिल सक्सेना ने कहा, ‘शुरुआती रिपोर्ट थी कि सात डिब्बे बेपटरी हुए हैं। लेकिन ताजा जानकारी के अनुसार, इंजन और 9 बोगियां पटरी से उतर गई हैं।’

वहीं, मध्य रेलवे के प्रमुख जनसंपर्क अधिकारी सुनील उदासी ने बताया कि घटना में किसी भी यात्री के घायल होने की कोई खबर नहीं है। रेलवे के एक अन्य अधिकरी ने कहा कि यह हादसा सुबह छह बजकर 35 मिनट पर आसनगांव रेलवे स्टेशन के पास हुआ।
उन्होंने कहा कि रेल के पटरी से उतर जाने के कारण इस रास्ते पर रेल यातायात प्रभावित हुआ है।

अधिकारी ने कहा कि डॉक्टरों का एक दल मौके पर पहुंच गया है और वे फंसे हुए यात्रियों तक पहुंचने के लिए, राहत पहुंचाने के लिए और इस मार्ग पर रेल यातायात बहाल करने के लिए युद्धस्तर पर काम कर रहे हैं।

इससे पहले ट्रेन में यात्रा कर रहे एक प्रत्यक्षदर्शी ने दावा किया कि कुछ यात्रियों को हल्की चोटें आई हैं। जस्टिन राव नामक एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, ‘इंजन के साथ कम से कम छह डिब्बे पटरी से उतर गए। हम समझ ही नहीं पाए कि हुआ क्या है। कुछ लोग शौचालयों में फंसे थे और उन्हें साथी यात्रियों ने खिड़की के शीशे तोड़कर बचाया।’

देश में पिछले 10 दिन की अवधि में यह रेल के पटरी से उतरने की तीसरी घटना है। बीते 19 अगस्त को उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर स्थित खतौली में तेज रफ्तार वाली उत्कल एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए थे और एक डिब्बा पटरी के पास बने एक मकान में जा घुसा था। इस घटना में 23 लोग मारे गए और 60 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.