ट्रैन में सीट को लेकर मारामारी, 15 अप्रैल से प्रमुख ट्रेनों में AC- स्लीपर की सभी सीटें फुल

कही-सुनी

आगामी 15 अप्रैल से ट्रेन सेवा शुरू होने की संभावना को देखते हुए रेल यात्री एडवांस टिकट बुकिंग कराने लगे हैं। प्रमुख ट्रेनों में 16 से 20 अप्रैल की स्लीपर और एसी की सीटे फुल होने के कारण वेटिंग लिस्ट की स्थिति पहुंच गई है। हालांकि रेलवे की ओर से वरिष्ठ नागरिकों को किराये में दी जाने वाली छूट नहीं दी जा रही है। अब तक महिलाओं को 50 तथा पुरुषों को 40 फीसदी छूट सीनियर सिटीजन के नाते दी जाती थी। इससे जाहिर है कि सरकार चाहती है कि अभी लोग अनावश्यक यात्रा करने से बचें।

देश में 21 दिन के पूर्व घोषित लॉकडाउन की अवधि 14 अप्रैल को समाप्त हो रही है, हालांकि इस पर अंतिम फैसला कोरोना वायरस पर गठित केंद्र सरकार के मंत्रियों के समूह को लेना है। लेकिन रेलवे ने सभी जोनल-डिवीजन के संबंधित अधिकारियों को ड्यूटी पर तैयार रहने के निर्देश दिए हैं। इसको देखते हुए रेल यात्रियों ने धड़ाधड़ एडवांस टिकट बुक कराने शुरू कर दिए हैं। ट्रेनों में सभी सीटें बुक होने के कारण वेटिंग टिकट मिल पा रहे हैं। इसमें हावड़ा-देहरादून एक्सप्रेस, दिल्ली-पुरुषोत्तम एक्सप्रेस, जलियांवाला बाग एक्सप्रेस, टाटा जम्मू तवी एक्सप्रेस, उत्कल एक्सप्रेस आदि की एसी व स्लीपर की सीटे भर गई हैं।

लॉकडाउन के चलते देशभर के सभी रेलवे टिकट काउंटर बंद हैं, इसलिए एडवांस टिकट की बुकिंग सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर हो रही है। इसमें वरिष्ठ नागरिकों को रेल किराये में रियायत देने वाला कालम ही गायब है। यानी वरिष्ठ नागरिकों को रेल किराये में छूट नहीं दी जा रही है। विदित हो कि रेलवे ने कोरोना वायरस के फैलाव को कम करने के मकसद से 20 मार्च आधी रात से विद्यार्थी, दिव्यांगजनों, मरीजों को छोड़कर विभिन्न कुल 53 श्रेणियों के तहत दी जाने वाल रियायात समाप्त कर दी थी। इसका मकसद कम से कम संख्या में लोग ट्रेनों से सफर करें। विशेषकर वरिष्ठ नगारिकों को कोरोना से संक्रमित होने का अधिक खतरा रहता है।

अहमदाबाद रेलवे मंडल में कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के लिए ट्रेनों की 17 बोगियों को पृथक वार्ड में परिवर्तित किया जा रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि सभी आवश्यक चिकित्सा उपकरणों के साथ ऐसी पहली बोगी तैयार हो गई है और उसे मणिनगर रेलवे डिपो में खड़ा किया गया है। अहमदाबाद कोरोना वायरस के प्रसार के लिहाज से प्रमुख केंद्रों में से एक बनकर सामने आया है।

रेलवे ने शनिवार को कहा कि ट्रेन सेवाओं को बहाल करने पर अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है और इस पर फैसला कुछ ही दिनों में लिया जाएगा। यह बयान तब आया है जब रेलवे ने कोरोना वायरस के कारण यात्री ट्रेनों *को 21 दिन तक स्थगित करने के बाद 15 अप्रैल से अपनी सभी *सेवाएं बहाल करने की तैयारी शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.