ट्रेन में प्रेमी से रचाई शादी, दो दिन में ही शादी तोड़ लौटी घर; मां की ममता के आगे प्यार को ठुकराया

खबरें बिहार की जानकारी

सुबह का भुला अगर शाम को घर वापस आ जाए तो उसे भुला नहीं कहते। यह कहावत सुल्तानगंज की एक युवती पर बिल्कुल सटीक बैठती है। जिस प्रेमी के लिए उसने घर-गांव सबकुछ छोड़ दिया, वह दो दिन में ही वापस अपने माता-पिता के पास लौट गई। दरअसल, प्रखंड क्षेत्र के एक गांव का लड़का पटना में रहकर पढ़ाई कर रहा था। इसी दौरान उसे एक लड़की से प्यार हो गया। एक दूसरे से साथ जीने मरने की कसमें खा लीं। दो साल से चल रहे प्रेम प्रसंग के बाद दोनों ने भागकर शादी करने का फैसला किया। योजना के तहत दोनों एक माह पहले घर से फरार हो गए और पटना के एक मंदिर मे दोनों शादी करने पहुंचे। मंदिर प्रबंधक ने बिना अभिभावक के मौजूदगी में शादी की इजाजत नहीं दी।

इसके बाद प्रेमी ने अपनी प्रेमिका को पटना से सुल्तानगंज स्थित अपने गांव ले जाने का फैसला किया। प्रेमिका भी इस बात को मान गई। दोनों पटना से अपने गांव के लिए रवाना तो हुए, लेकिन पटना से सुल्तानगंज आने के दौरान दानापुर-भागलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस में युवक ने अपनी प्रेमिका की मांग भरकर चलती ट्रेन में ही शादी कर ली। ट्रेन में अनोखी शादी देख वहां मौजूद सभी यात्री हक्के-बक्के रह गए।

सुल्तानगंज स्टेशन उतरने पर युवक अपनी पत्नी को लेकर सीधे अपने गांव पहुंच गया। युवक की शादी से लड़के के घरवाले काफी खुश थे, लेकिन युवती घर की स्थिति देखकर घबरा गई और अपने आप को कोसने लगी। इस दौरान युवती की मां ने लड़की को फोनकर बेटी के भविष्य की दुहाई देते हुए कहा कि तुम अपनी पढ़ाई पूरी कर लो फिर शादी कर ससुराल में रहना। सास-ससुर के भरोसे कब तक रहोगी। तुम जिस लड़के से शादी की हो वह भी बेरोजगार है। तुम्हारा कब तक ख्याल रख पाएगा। इतना सुनते ही लड़की का इरादा बदल गया। साथ जीने-मरने की कसमें खाने वाली प्रेमिका ने दो दिन ससुराल में रहने के बाद शादी तोड़ने का फैसला कर लिया।

लड़की ने जब अपने फैसले से ससुराल वालों को अवगत कराया तो सभी हैरान हो गए। ससुराल वालों ने लड़की को अपना फैसला बदलने के काफी समझाया बुझाया, लेकिन लड़की ने एक नहीं मानी। युवती ने कहा कि उसने जिस लड़की से शादी की, उसने अपने परिवार के बारे में बहुत कुछ बताया था। जब शादी कर उसके घर आई तो बताए गए अनुसार कुछ भी नहीं पाया। अपनी गलती का एहसास कर अपनी पढ़ाई पूरी करने की बात करते हुए युवती ने लड़के के घरवालों को लिखित रूप से शादी तोड़ने का फैसला दिया और अपने घर के लिए पटना रवाना हो गई।

इस घटना की जानकारी मिलने के बाद गांवों में तरह-तरह की काफी चर्चा होने लगी है। लड़की ने बताया कि उसने झांसे में आकर इस तरह का फैसला ले लिया था। समय रहते मम्मी ने मुझे सही रास्ता दिखा दिया। इसलिए मैं अब एक पल भी ससुराल के नाम पर यहां नहीं रह सकती हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.