सावन में भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए करें यह काम, आपकी मनोकामनाएं होंगी पूरी

आस्था

पटना: सावन का महीना भगवान भोलेनाथ को समर्पित है सावन के नाम से ही लोगों के मन में खुशियां उत्पन्न होने लगती है भारतवर्ष में सावन का महीना बहुत ही पवित्र और खुशियों भरा माना गया है सावन के महीने में सभी लोग भोलेनाथ की पूजा अर्चना करते हैं सावन के महीने में शिवालयों में भोलेनाथ की गूंज देश भर में सुनाई देती है पौराणिक महत्व रखने वाले लोग इस महीने में हरियाली और बारिश की फुहार जीवन के उस गीत को गाती है जो उत्साह और उल्लास की जीती जागती मिसाल है इस बार सावन का महीना थोड़ी देर से आने वाला है जिसका सभी लोगों को बेसब्री से इंतजार है अधिक मास की वजह से इस बार सावन का महीना 18 दिन देर से आएगा यह इस बार 28 जुलाई से आरंभ होने वाला है परंतु इस बार सावन का महीना पूरे 30 दिन तक चलने वाला है और सावन के महीने की तैयारियां लोगों ने अभी से ही शुरु कर दी है।

सावन महीने का पहला सोमवार 30 जुलाई को पड़ने वाला है इस अवसर पर आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कुछ ऐसी खास जानकारियां देने जा रहे हैं जो शिव भक्तों को करना बहुत ही जरूरी है आप इसके लिए श्रावण मास में पड़ने वाली महत्वपूर्ण तिथियों पर निशान लगा सकते हैं जिससे आप इसको भूल ना जाएं की कौन सी पूजा के लिए कब तैयारी करनी होगी इस बार 28 जुलाई से श्रावण मास शुरू हो रहा है 30 जुलाई को पहला सोमवार व्रत है 6 अगस्त सावन सोमवार व्रत, 11 अगस्त हरियाली अमावस्या। 13 अगस्त सोमवार व्रत और हरियाली तीज, 20 अगस्त सोमवार व्रत, 26 अगस्त सावन महीने का अंतिम दिन है आप इन सब तिथियों पर निशान जरूर लगा लें।

आपको बनाना होगा पूजन सामग्री की सूची

इस महीने में भगवान शिव जी की खास पूजा के लिए जरूरी पूजन सामग्री पर्याप्त मात्रा में पहले से ही खरीद कर सुरक्षित स्थान पर रख लीजिए कुछ पूजन सामग्री ऐसी हैं जो आप एक बार लेकर रख सकते हैं और कुछ ऐसी सामग्रियां हैं जो सूख सकती है इसी वजह से आप सूखने वाली पूजन सामग्रियां पूजन वाले दिन सुबह के समय लेकर आ सकते हैं पूजन सामग्रियां इस प्रकार है-

चंदन इत्र शर्करा मधु घी दही दूध कलावा बिल्वपत्र गन्ने का रस गंध सुगंधित द्रव अक्षत पुष्प माला वस्त्र धूप-दीप चंदन की लकड़ी तांबूल पुंगीफल आरती के लिए कपूर ले आए।

पूजा करने की सूची बनाएं

जब आप श्रावण मास में विशेष पूजा करेंगे तो आपको रोजाना की पूजा के लिए अलग अलग तरीके से तैयारी करनी होगी पूजा करने में अधिक समय लग सकता है इसलिए आप पहले से ही इन सब सामग्री को निकाल कर रख लीजिए इस साल का सावन का महीना बहुत ही खास रहेगा क्योंकि 19 साल बाद एक दुर्लभ संयोग बन रहा है कुछ व्यक्तियों को उनके राशियों के अनुसार भी व्रत और पूजा बताए जाते हैं ग्रह दोषों से छुटकारा प्राप्त करने के लिए इस महीने की पूजा बहुत ही विशेष है।

जो भोलेनाथ के भक्त होते हैं वह भोलेनाथ को खुश करने के लिए नाच-गाना भी करते हैं अगर आपके आसपास भी इसी तरह के शिवभक्त है तो पूजन में आप उनको बुला सकते हैं इसके लिए आप इन सब की तैयारियां और सूची पहले ही बना लीजिए।

Source: Hindi Hits News

Leave a Reply

Your email address will not be published.