तीसरी सोमवारी पर पहलेजा घाट से गरीबनाथ नगरी तक सिर्फ बोल बम, उमड़ा आस्था का सैलाब

आस्था खबरें बिहार की

सावन की तीसरी सोमवारी पर भगवान भोलेनाथ भी भक्तों पर मेहरबान रहे। रविवार को बारिश के बीच बोल बम के जयकारे के साथ कांवरियों का जत्था देर रात तक बाबा नगरी में प्रवेश करता रहा। पहलेजा से बाबा गरीबनाथ तक बोल बम के जयकारे के बीच कांवरियों का उत्साह चरम पर रहा। मौसम सुहाना होने के कारण बड़ी संख्या में आसपास और स्थानीय श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला रात तक जारी रहा। श्रावणी मेले के नोडल पदाधिकारी शारंग मणी पांडेय ने बताया कि भक्तों की भीड़ जिस तरह उमड़ रही है, उससे इस सोमवारी करीब पांच लाख श्रद्धालुओं के पहुंचने की उम्मीद है।

शनिवार को शहर में प्रवेश करने वाले ज्यादातर श्रद्धालुओं ने रविवार को सुबह पांच बजे से ही जलाभिषेक करना शुरू कर दिया। सुबह में अपेक्षाकृत भीड़ कम होने की वजह से कांवरियों और स्थानीय श्रद्धालुओं को बाबा गरीबनाथ मंदिर के गर्भगृह में जाकर जलाभिषेक का मौका मिला। बीच-बीच में मंदिर के सदस्य कुछ देर के लिए साफ-सफाई करते और उसके बाद फिर से जलाभिषेक का सिलसिला शुरू हो जाता। भीड़ ज्यादा उमड़ी तो रविवार को रात आठ बजे से अरघा से जलाभिषेक शुरू हुआ। इससे पूर्व सुबह तीन बजे से रविवार रात आठ बजे तक करीब 40 हजार श्रद्धालु जलाभिषेक कर चुके थे। मंदिर के मुख्य पुजारी विनय पाठक ने बताया कि भीड़ को देखते हुए इस सोमवारी एक सेकेंड के लिए भी जलाभिषेक को रोका नहीं गया। रविवार रात 9 बजे आरती के वक्त भी जलाभिषेक चलता रहा। उसी दौरान बाबा का महाशृंगार और आरती भी की गई। यह सिलसिला सोमवार को सुबह तक चलता रहा। कांवरियों की सुरक्षा और गरीबनाथ मंदिर में भीड़ नियंत्रण को लेकर व्यवस्था चाक-चौबंद रही। हालांकि रात 12 बजे के बाद कई जगहों पर पुलिस व सेवा दल को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

अनुमान से दोगुना हुए डाक कांवरिये

तीसरी सोमवारी पर डाक कांवरियों की संख्या लगभग दोगुनी हो गई। प्रशासन को लगभग 25 हजार डाक कांवरियों के आने का अनुमान था, लेकिन रात नौ बजे तक लगभग 50 हजार डाक कांवरियों ने जलबोझी की।

श्रावणी मेला के जिला नोडल पदाधिकारी शारंग मणी पांडेय ने बताया कि तीसरी सोमवारी के लिए रविवार की सुबह 25 हजार हैंड बैंड सोनपुर प्रशासन को उपलब्ध कराया गया। मगर वहां से जानकारी दी गई कि शाम चार बजे तक ही सारे हैंड बैंड बांट दिये गये। नौ बजे रात्रि तक पहलेजा घाट पर लगभग 50 हजार डाक कांवरियों ने जलबोझी की।

सेवा शिविर में दिखा सांप्रदायिक सौहार्द्र

शहर के धर्मशाला चौक स्थित महामाया स्थान संतोषी माता मंदिर में रविवार को कुमारेश्वर सहाय के नेतृत्व में कांवरियों के लिए सेवा शिविर लगाया गया। इसमें मोहल्ले के हिन्दू और मुस्लिम भाइयों ने मिलकर कांवरियों की सेवा की। मोहल्ले के अब्दुल माजिद ने कांवरियों के पैर में पड़े छाले पर मरहम लगाया। शिविर में चाय-नाश्ता व भोजन का प्रबंध किया गया था

दिन में जिला स्कूल कैंपस रहा खाली

कांवरियों के लिए आमगोला के बाद हरिसभा चौक होते हुए जिला स्कूल होकर साहू पोखर होते हुए गरीबनाथ जाने की व्यवस्था है। रविवार को देर शाम तक आमगोला, हरिसभा चौक, छोटी कल्याणी, साहू पोखर होते हुए ही कांवरिया जलाभिषेक को जा रहे थे। देर रात हरिसभा चौक से देवी मंदिर होते हुए जिला स्कूल की ओर श्रद्धालुओं को मोड़ा गया।

डीजे वाले दो वाहनों को पुलिस ने किया जब्त

काजी मोहम्मदपुर थाने की पुलिस ने रविवार की देर शाम माड़ीपुर में दो डीजे को जब्त किया। डीजे में बड़े-बड़े साउंड बॉक्स के अलावा 120 लाउडस्पीकर बंधा हुआ था। डीजे की शिकायत कई लोगों ने एसएसपी से की थी। उसके बाद पुलिस को भेजकर उसे जब्त करा लिया गया।

डाक बम व कांवरिया के लिए अलग रूट

हरिसभा चौक पर डाक और आम कांवरिया के लिए रूट को अलग कर दिया गया। डाक बम जहां सीधा छोटी कल्याणी के तरफ जा रहे थे, वहीं आम बम देवी मंदिर, जिला स्कूल, अमर सिनेमा होते हुए छोटी कल्याणी तक पहुंच रहे थे। वहां महिला और पुरुषों की लाइन अलग की गई थी। वहीं डाक बम को हाथ ऊपर कर सीधा जाने के लिए कहा जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.