टीका लगाने के बदले मांगे 2 हजार रुपये! एएनएम व आशा कार्यकर्ता के बीच चले लात-घूंसे

खबरें बिहार की

जमुई जिले के लक्ष्मीपुर प्रखंड मुख्यालय स्थित रेफरल अस्पताल में उस समय अफरा-तफरी का माहौल हो गया जब एक एएनएम व आशा कार्यकर्ता के बीच मारपीट होने लगी। मामला एक नवजात को बीसीजी का टीका दिलाने को लेकर जुड़ा है।

 

दरअसल दिग्घी पंचायत की निवासी  एक आशा कार्यकर्ता रिंटू कुमारी एक नवजात को बीसीजी का टीका दिलाने के लिए रेफरल अस्पताल आई थी। उन्होंने ड्यूटी पर मौजूद एएनएम कुमारी रंजना से नवजात को टीका देने का आग्रह किया। आशा कार्यकर्ता का आरोप है कि बीसीजी का टीका देने के बदले उक्त एएनएम ने बतौर नजराना 2 हजार रुपये की मांग की। रुपये नहीं देने की बात पर एएनएम उग्र हो गईं और दोनों के बीच कहासुनी होने लगी। धीरे-धीरे बात इतनी बढ़ गई कि मामला मारपीट तक पहुंच गया और दोनों एक दूसरे का बाल पकड़कर मारपीट करने लगी। दोनों के बीच हुई मारपीट का वीडियो वायरल हो गया।

मारपीट के बाद रेफरल अस्पताल में स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गईं। घटना की सूचना वैक्सीनेशन टीम का निरीक्षण करने क्षेत्र में गए अस्पताल के प्रभारी  चिकित्सा पदाधिकारी डा. डीके धुसिया को दी गई। सूचना मिलतें ही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. डीके धुसिया रेफरल अस्पताल पहुंचे और मामले की छानबीन की। दोनों पक्षों से पूछताछ की गई। आशा कार्यकर्ता का आरोप है कि एएनएम कुमारी रंजना ने बीसीजी का टीका दिलाने के बदले बतौर नजराना 2 हजार रुपये की मांग की थी। कुमारी रंजना ने बताया कि आशा कार्यकर्ता द्वारा लगाया गया आरोप निराधार है।

 

दोनों पक्षों की ओर से आवेदन लेकर मामले की जांच कर स्पष्टीकरण किया जाएगा। दोषी के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.