जल्द ही राजगीर में दिखेंगे आकर्षण के तीन केंद्र, घोड़ा कटोरा झील भी होगा विकसित

कही-सुनी

पटना: पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य का अंतरराष्ट्रीय महत्व का पर्यटन केंद्र राजगीर को और आकर्षक बनाने की कवायद तेज हो गई है. आने वाले चार से पांच महीने में ये ज्यादा खूबसूरत दिखेगा. इससे यहां अधिक से अधिक पर्यटक आएंगे. यहां पर्यटकों के आकर्षण के लिए तीन महत्वपूर्ण पर्यटकीय सुविधाएं विकसित की जा रही हैं. इसके अंतर्गत आगामी चार-पांच महीने में राजगीर में नया रोप-वे तैयार हो जायेगा. इतना ही नहीं एक से डेढ़ महीने में बुद्ध की 80 फुट ऊंची मूर्ति आम दर्शकों को देखने के लिए पूरी तरह से खोल दी जायेगी.

घोड़ा कटोरा झील होगा और विकसित

साथ ही राजगीर के सबसे लोकप्रिय और मनोरम स्थलों में एक घोड़ा कटोरा झील और इसके आसपास के पूरे इलाके को विकसित किया जायेगा. पूरे इलाके को प्राकृतिक तरीके से सुसज्जित करते हुए यहां पर्यटकों के लिए कई विशेष सुविधाएं विकसित करायी जायेंगी. आगामी सर्दी के मौसम में जब इस इलाके में पर्यटकों का आगमन शुरू होगा, तो उन्हें इन तीन विशेष चीजों का लुफ्त उठाने की सौगात मिलेगी.

नये और अंतरराष्ट्रीय लुक में दिखेगा रोप-वे

राजगीर में विश्व शांति स्तूप तक पहुंचने के लिए एक नया रोप-वे (रज्जु मार्ग) तैयार होने जा रहा है. मौजूदा रोप-वे काफी पुराना होने के कारण इसका स्थान नया रोप-वे ले लेगा. इस नये रोप-वे की खासियत होगी कि यह पूरी तरह से फाइबर ग्लास से बना होगा और चारों तरफ से बंद होगा, जिसमें चार लोगों के एक साथ बैठने की व्यवस्था होगी. इस रोप-वे में ऐसे 36 केबिन होंगे.

ये सभी एक के बाद एक करके घूमते रहेंगे. यहां जिन केबिन को लगाया जा रहा है, वे सभी ऑस्ट्रिया की बनी हुई हैं. यह इसे पूरी तरह से अंतरराष्ट्रीय लुक देगा. इसमें बैठने के लिए भी आरामदायक बंदोबस्त होगा. यह नया रोप-वे पूरी तरह से अंतरराष्ट्रीय रूप-रंग में दिखने के कारण पर्यटकों के लिए सबसे प्रमुख आकर्षण केंद्र होगा.

बीच तालाब में बनी बुद्ध की मूर्ति

राजगीर के बेहद ही मनोरम और रमणीय स्थानों में शामिल घोड़ा कटोरा झील है. इस पूरे इलाके की खूबसूरती को ज्यादा बढ़ाने के लिए कई स्तर पर प्रयास किये गये हैं. इस झील के बीच में 80 फुट ऊंची बुद्ध की विशाल मूर्ति लगा दी गयी है. अब यहां तक पहुंचने के लिए मार्ग और मूर्ति के आसपास बड़े से चबुतरे का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है. यहां तक पहुंचने के लिए झील के बीच में एक सड़क का निर्माण किया गया है. इसका निर्माण कार्य एक से डेढ़ महीने में पूरा कर लिया जायेगा.

Source: Live Cities

Leave a Reply

Your email address will not be published.