पटना: छोटी दिवाली यानी छह नवंबर को अपने पहले अंतरराष्ट्रीय मैच के लिए तैयार हो रहा इकाना स्टेडियम देश की क्रिकेट संस्थाओं ही नहीं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) को भी लुभा रहा है। यही वजह है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) के अध्यक्ष सीके खन्ना कहते हैं कि अब यहां टी-20 व वनडे के मुकाबले भविष्य में भी होते रहेंगे। खन्ना मानते हैं कि इकाना स्टेडियम की तरह ही लखनऊ शहर भी बेहद खूबसूरत है। छह नवंबर का मैच लखनऊ के क्रिकेट प्रेमियों के लिए दिवाली तोहफा है।

छह नवंबर को इकाना में पहला अंतरराष्ट्रीय टी-20 मुकाबला होगा। वेस्टइंडीज की टीम मेहमान होगी। खन्ना कहते हैं कि फटाफट क्रिकेट आज के युवा की पहली पसंद है। मुझे उम्मीद है कि अगले वर्ष तक कई और बड़े मुकाबले यहां देखने को मिलेंगे। इस स्टेडियम की खूबसूरती ने बोर्ड के साथ आइसीसी को भी प्रभावित किया। इसे संयोग ही कहेंगे कि छोटी दिवाली जैसे बड़े पर्व के दिन भारत और वेस्टइंडीज के बीच हाई वोल्टेज मुकाबला खेला जाएगा। छह नवंबर लखनऊ सहित पूरे यूपी के प्रशंसकों के लिए बड़ा दिन होने जा रहा है।

बोर्ड अध्यक्ष रविवार को इकाना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में जूनियर भारतीय टीम के कोच राहुल द्रविड़ और चयनकर्ताओं के साथ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि भविष्य में इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के मुकाबले भी इस स्टेडियम में होंगे। हमारी कोशिश रहेगी कि आइपीएल के कम से कम दो मुकाबले इकाना में खेले जाएं, लेकिन इसका अंतिम निर्णय फ्रेंचाइजी को ही करना होता है। पिछले सत्र में दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम यहां अपने दो मैच शिफ्ट करना चाह रही थी लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसा नहीं हो सका। उम्मीद है कि आइपीएल-2019 के दो मुकाबले यहां खेले जाएंगे।

यूपी के लिए इकाना बड़ी उपलब्धि

सीके खन्ना का कहना है कि इकाना की तुलना ऐसे ही विश्वस्तरीय स्टेडियम से नहीं हो रही है। इसमें वो सभी खूबियां हैं जो इंग्लैंड के लॉर्ड्स और कोलकाता के ईडन गार्डंस में मिलेगी। मैं यूपीसीए, राजीव शुक्ला और स्टेडियम के एमडी उदय सिन्हा को विशेष धन्यवाद देना चाहता हूं, जिनके अथक प्रयास से यह संभव हो पाया।

बीसीसीआइ पर कुछ भी बोलने से किया मना

बीसीसीआइ के जीएम व पूर्व भारतीय क्रिकेटर सबा करीम पर बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव आदित्य वर्मा द्वारा लगाए गए आरोप पर सीके खन्ना ने कुछ भी बोलने से मना कर दिया। साथ ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा बीसीसीआइ मामले में दिए गए निर्देश पर भी बोलने से साफ मना कर दिया।’

Source: Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here