यह Mother’s Day उन शहीदों की मां के नाम, जिन्होंने देश के लिए किया अपने बेटों को कुर्बान

राष्ट्रीय खबरें

पटना: रविवार को पूरा विश्व मदर्स डे मना रहा है। सब अपनी-अपनी मां को इस दिन की बधाईयां दे रहे हैं। इस दिन ईनाडु इंडिया सलाम करता है उन तमाम माताओं को जिन्होंने भारत मां की रक्षा में तैनात अपने बेटों को देश के लिए कुर्बान कर दिया।

आज हम आपको कुछ ऐसी मांओं के बारे में बताते हैं, जिन्होंने देश की रक्षा करने कि लिए अपने जिगर के टुकड़ो को कुर्बान कर दिया। इसके अलावा उसपर गर्व करते हुए कहती हैं कि काश उनके और भी बेटे होते जिन्हें वो अपने देश के नाम कर सकतीं।

DEMO PIC

इस बूढ़ी मां को रखा गया था बेटे की मौत से बेखबर
झारखंड का लाल रंजीत खलखो जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकवादियों से 48 घंटे तक लोहा लेते हुए 22 मार्च को शहीद हो गए थे। जैसे ही रंजीत के शहीद होने की खबर आयी, पूरे इलाके में शोक की लहर दौड़ गई थी। हालांकि, रंजीत की वृद्ध मां को उनके बेटे के शहीद होने की जानकारी तक नहीं दी गई थी।

DEMO PIC

नहीं सोचा था कि इस हाल में देखने को मिलेगा बेटे का शव
शहीद अमरेश कुमार बेगूसराय जिले के मंझौल गांव के निवासी थे और छत्तीसगढ़ के रावघाट में बीएसएफ के जवान रूप में कार्यरत थे। बता दें कि नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान 8 मार्च को अमरेश कुमार की मौत हो गई थी। अपने बेटे के शव को देख बेसुध हो गईं थी अमरेश कुमार की मां।

DEMO PIC

जिन आंखों ने बेटे की शादी के सपने संजोये थे उन आंखों ने अपने सामने पुत्र की चिता जलते देखी
4 फरवरी 2018 को जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा सीजफायर के उल्लंघन का मुंहतोड़ जवाब देते हुए धुतौली पंचायत के बरमहा गांव के नागेश्वर यादव के जांबाज पुत्र के मुन्ना शहीद हो गए थे। सोमवार को कश्मीर से विशेष विमान से शहीद के शव को पटना लाया गया था। परिजनों ने बताया कि मां-बाप शहीद मुन्ना की शादी करना चाहते थे लेकिन उनका ये सपना पूरा न हो सका।

Source: etv bharat bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.