पटना: सीबीएसई के एनईईटी की परीक्षा में देश में अव्वल आनेवाली कल्पना कुमारी ने बिहार का नाम रोशन किया है। कल्पना कुमारी अभी दिल्ली में रहती है। वह बिहार के सबसे छोटे जिले शिवहर के नरवारा गांव की रहनेवाली है। कल्पना के पिता राकेश मिश्रा शिक्षा विभाग में काम करते हैं, जो सीतामढ़ी में पोस्टेड हैं। परीक्षा में अव्वल आने के बाद कल्पना ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं। मैं चिकित्सक बनने के अपने स्वपनिल कॅरियर के लिए प्रवेश परीक्षा दी थी। अभी तक परीक्षा की प्रक्रिया में मुझे कोई समस्या नहीं आयी। अब मैं एमबीबीएस के लिए अच्छे मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेना चाहती हूं।

सीबीएसई एनईईटी टॉपर कल्पना का सपना कॉर्डियोलॉजिस्ट बनना है। कल्पना ने बताया कि एनईईटी में वांछित सफलता मिली। मैंने तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। अपनी सफलता की कहानी बताते हुए कल्पना ने कहा कि रेगुलर हार्डवर्क और डेडीकेशन से उसे यह सफलता मिली। मम्मी-पापा, भैया और दीदी को रोल मॉडल बताते हुए उन्होंने कहा कि परीक्षा के लिए रोजाना 10 से 12 घंटे तक पढ़ाई करती थी। कल्पना की बड़ी बहन भारती कुमारी आइइएस क्वालीफाई करने के बाद अभी मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस में विशाखापट्टनम में पोस्टेड हैं, जबकि भाई प्रणय मैकेनिकल इंजीनियरिंग में IIT गुवाहाटी में तीसरे वर्ष के छात्र हैं। कल्पना ने बताया कि बड़े भाई से हार्डवर्क और दीदी से स्मार्टवर्क सीखा। साथ ही माता-पिता से पूजा-पाठ और भगवान पर भरोसा करने की प्रेरणा मिली। उसकी सफलता में उसकी मेहनत के साथ-साथ परिवार का विश्वास और भगवान के आशीर्वाद का भी बड़ा हाथ है।

कल्पना ने इस साल इंटरमीडिएट की परीक्षा वाइकेजेएम इंटर कॉलेज, तरियानी से दी है। और उन्होंने बिहार बोर्ड में विज्ञान में टॉपर बनी और उन्होंने कहा कि  कहा बिहार बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में भी उसे अच्छे मार्क्स आने की उम्मीद थी बूत उम्मीद से ज्यादा मिला परीक्षा के लिए उसने काफी अच्छी तैयारी की थी।

कल्पना को बैडमिंटन पसंद है। बैडमिंटन के मैच देखने के साथ ही वह खुद खेलती भी है। साथ ही उसे क्रिकेट भी पसंद है। लेकिन, मुकाबला रोमांचक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब तक मैच रोमांचक न हो, देखने में मजा नहीं आता। वह अपने कॉलेज की क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व भी कर चुकी है।

Source: live bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here