बिहार में खोजने से भी नहीं मिलेगा लालटेन, सूबे के हर घर में पहुंच चुकी है बिजली

खबरें बिहार की

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिजली विभाग की 3650.83 करोड़ की योजना का पटना के विद्युत भवन में शिलांयास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने राजद पर निशाना साधते हुए कहा कि वह दिन गए जब लोग रौशनी के लिए दीया और लालटेन जलाते थे।

शुक्रवार को बिजली विभाग कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने राजद पर चुटकी लेते हुए कहा कि कुछ दिनों में लगता है कि राज्य में लालटेन दिखना ही बंद हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अब राज्य के टोला टोला में बिजली पहुंच गई है।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने राज्य के सभी बसानट तक बिजली पहुंचाने का दावा किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में एक लाख छह हजार 249 बसावट हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिसंबर 2018 तक सभी घर तक बिजली पहुंचाने पर भी काम हो रहा है।

उन्होंने कहा कि राज्य में 24 लाख घरों तक बिजली कनेक्शन देना शेष था। जिसमें जून तक 14 लाख घरों में कनेक्शन दे दिया जाएगा। बचे हुए घरों में दिसंबर तक बिजली पहुंच जाएगी। नीतीश कुमार ने कहा बिहार के तर्ज पर ही केंद्र सरकार ने हर घर बिजली पहुंचाने की योजना लागू की हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जर्जर तारों को बदलने के लिए 2827.51 करोड़ की योजना शुरू हुई है। इससे बिजली आपूर्ति में काफी सुधार होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निश्चय के तहत दूसरा निश्चय भी पूरा हो गया। महिलाओं को सरकारी नौकरी में 35 फिसद आरक्षण पहले ही लागू कर चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने विद्युत भवन में कैफेटेरिया का भी उद्घाटन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र यादव के साथ पुराने वाहन से तैयार सोफा पर बैठ कर फोटो भी खींचवाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.