छात्रों को सीएम नीतीश ने दिया तोहफा, अब….

खबरें बिहार की

पटना :  बिहार सरकार ने छात्र हित को ध्यान में रखते हुए एक बड़ा फैसला लिया है. अब स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ लेने वाले छात्रों की अधिकतम उम्र सीमा में 5 से 8 वर्ष तक की बढ़ोतरी होगी. पहले सामान्य वर्ग के छात्र-छात्राएं को अधिकतम 25 वर्ष तक ही इस योजना का लाभ मिलता था जबकि अब 30 वर्ष तक मिलेगा. वहीँ एससी-एसटी और सभी वर्गों की महिलाएं 33 वर्ष तक इस योजना का लाभ ले सकेंगी.

शिक्षा विभाग ने उम्र सीमा में वृद्धि का यह प्रस्ताव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर तैयार किया है. विकास आयुक्त के साथ विचार-विमर्श और कैबिनेट से मंजूरी के बाद इसे चालू वित्तीय वर्ष से ही लागू कर दिया जाएगा. बिहार सरकार के सात निश्चय में शामिल इस निश्चय के तहत उच्च शिक्षा के लिए छात्रों को राज्य सरकार की गारंटी पर बैंक से 4 लाख रुपए तक लोन मिलता है.

उम्र सीमा बढ़ाने की जरूरत के बारे में कहा जा रहा है कि कई ऐसे कोर्स है जिसे करने में छात्रों की उम्र अधिक हो जाती है और ऐसे छात्र इस योजना के लाभ से वंचित हो जाते हैं. इसीलिए छात्रों ने सीएम से उम्र सीमा बढ़ाने की मांग की थी. जिसे सीएम ने मान लिया है. बता दें कि अभी बिहार में ग्रेजुएशन, एमएससी, पीएचडी, बीएड, डिप्लोमा इन प्राइमरी एजुकेशन, फिजियोथैरेपी, फैशन डिजाइनिंग, एनएनएम, जीएनएम, होटल मैनेजमेंट, पॉलिटेक्निक, इंजीनियरिंग, मेडिकल, आलिम, शास्त्री के कोर्स के लिये स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड से लोन लिये जा सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *