देवघर में अंतिम सोमवारी पर 3 लाख कांवरियां जुटेंगे, जिला प्रशासन तैयारियों में जुटा

आस्था

पटना: सावन की अंतिम सोमवारी को लेकर शनिवार से कांवरियों भीड़ लगनी शुरू हो गयी है। शनिवार को कांवरियों की भीड़ कांवरिया पथ से लेकर बाबा मंदिर तक पहुंच गई। सावन की अंतिम सोमवारी पर ढाई से तीन लाख कांवरियों के आने की संभावना है। जिसका असर शनिवार से ही दिखने लगा है। शनिवार को श्रावणी मेले 21वें दिन सुबह से कांवरिया पथ में कांवरियों के आने का सिलसिला चलता रहा। सुबह से कांवरियों का आना शुरू हुआ जो देर शाम तक चलता रहा।

शनिवार को कांवरियों की कतार सुबह में बरमसिया चौक तक पहुंच गयी, दोपहर बाद कतार बीएड कॉलेज तक सिमटी। दोपहर बाद कांवरियों कतार नरम होने पर कांवरियों को सीधे नेहरू पार्क से प्रवेश कराया जाने लगा। कांवरियों की सेवा में सभी अधिकारी व बल पूरी मुस्तैदी से लगे थे। शनिवार को गर्मी व तपिश के कारण कांवरियों को परेशानी का सामना करना पड़ा, लेकिन बाबा की भक्ति के आगे सूर्य की तपिश की फीके पड़ने लगे। बोल बम के मंत्र के साथ कांवरिए निरंतर आगे बढ़ते रहे। रात पट बंद होने तक लगभग एक लाख से अधिक कांवरियों ने बाबा पर जलार्पण किया।

अंतिम सोमवारी को लेकर एसपी ने की बैठक
सावन के चौथी व अंतिम सोमवारी को लेकर जिला प्रशासन ने शनिवार से ही तैयारी शुरू कर दिया है। अंतिम सोमवारी को लेकर शनिवार से बैठकों का दौर शुरू हो गया। शनिवार को सूचना भवन में एसपी नरेंद्र सिंह ने सिविल डिफेंस वॉलेंटियर के साथ बैठक कर अंतिम सोमवारी पर होनेवाली भीड़ को लेकर रणनीति बनायी। उन्होंने कहा कि अंतिम सोमवारी को भी पिछली तीन सोमवारी की तरह सफलता पूर्वक किया जाना है। साथ ही सभी वॉलेंटियर को सचेत रहने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा सभी वॉलेंटियर ने पूरी तन्मयता के साथ सावन के हर सोमवारी में प्रशासन का बेहतर तालमेल बनाकर साथ दिया है और सभी के सहयोग से सोमवारी काफी अच्छी तरह पार हुआ। उन्होंने सभी को पहले की तरह ही इस बार भी पुलिस के साथ समन्वय बनाकर कांवरियों की कतार को सिंगल बनाकर आगे बढ़ाने की अपील की। कांवरियों की भीड़ को एक जगह जमा नहीं होनेे देने आदि के विषय में बताया। किसी भी तरह की समस्या होने पर अपने निकट पुलिस पदाधिकारी को बताने की बात कही।

कांवरियों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं : अब्दुल कादिर  
शनिवार की भीषण गर्मी को देखते हुए कांवरिया पथ खिजुरिया में बाबा बैद्यनाथ वेलफेयर सोसाइटी ने कांवरियों के बीच ग्लूकोज का वितरण किया, जिससे कांवरियों को गर्मी से थोड़ी मिली। शिविर में शहर के प्रसिद्ध समाज सेवी शाह अब्दुल कादिर इकबाल और संस्था के सचिव मनोज कौशिक ने कांवरियों की सेवा की। समाज सेवी शाह अब्दुल कादिर इकबाल ने कहा कि कांवरियों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है। ये कांवरिए 105 किलोमीटर की दुर्गम यात्रा बाबा की शक्ति से ही पार कर यहां आते हैं। इनकी सेवा से बाबा बहुत प्रसन्न होते हैं और लोगों की मनोकामना पूरी करते हैं। मौके पर काफी संख्या में समाजसेवी उपस्थित थे।

Source: Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published.