सिपाही भर्ती परीक्षा में हुआ बड़े हाईटेक गिरोह का खुलासा, डील इतने करोड़ की जान हैरत में पड़ जाएंगे

खबरें बिहार की

पटना:  बिहार पुलिस भर्ती परीक्षा में पास कराने के नाम पर एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है. बिहार पुलिस की परीक्षा पास कराने के एवज में धंधेबाजों ने अभ्यर्थियों से 1.5 करोड़ की डील की थी. जैसे ही इस मामले का खुलासा हुआ आनन-फानन में पुलिस ने सोनपुर के रामलीला मैदान से छह सेटरों की गिरफ्तारी के बाद सूबे के अलग-अलग जिलों से तीस अभ्यर्थियों को परीक्षा हॉल से पुलिस ने धर दबोचा.

इन सेटरों के हाईटेक तरीके देख एक पल के लिए पुलिस भी अचंभित हो गई. नए-नए तकनीक के सहारे यह गिरोह अपना धंधा चला रहा था परीक्षा में ब्लू-टूथ डिवाइस के साथ वाट्सअप का सहारा ले रही थी. हालांकि पुलिस द्वारा आनन-फानन में उठाया गया कदम कारगर साबित हुई और सभी संलिप्त अभ्यर्थी पुलिस के गिरफ्त में आ गए. पुलिस ने गिरोह के पास से 30 अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड की फोटो कॉपी एवं उनके सर्टिफिकेट बरामद किया है.

कल सारण पुलिस अधीक्षक हर किशोर राय ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि सोनपुर थाना क्षेत्र के रामलीला मैदान में शनिवार की देर शाम अपराधियों के जमा होने की सूचना पर पुलिस ने वहां रेड की तो वहां से स्थानीय थाना क्षेत्र के बरबट्टा निवासी देवनाथ राय के साथ छह लोगों को गिरफ्तार किया गया. जहाँ पुलिस के पूछताछ में बड़े रैकेट का पर्दाफाश हुआ. गिरफ्तार देवनाथ राय ने अपनी संलिप्तता को स्वीकार करते हुए बताया कि उसके द्वारा ब्लू-टूथ डिवाइस एवं वाट्सएप के माध्यम से उन तीसों अभ्यर्थियों को प्रश्न-पत्र आउट कर उन्हे उत्तर उपलब्ध कराया जाता है जिसके बदले में प्रत्येक अभ्यर्थी से 5-5 लाख का सौदा किया था.

शुरूआती दौर में धंधेबाजों ने 20 हजार रुपये एडवांस के रूप में अभ्यर्थियों से लेता था यह रैके सूबे के कई अन्य जिलों में फैला हुआ है, जिसके निशानदेही पर सभी की गिरफ्तारी हुई. पुलिस ने मौके से डाफोड़ होने के बाद सभी के पास से एक ब्लूटूथ डिवाइस, 30 अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड का फोटो कॉपी, 24 मोबाइल एवं सभी अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट बरामद किया है. एक अभ्यर्थी मनीष कुमार को ब्लू-टूथ डिवाइस के साथ गिरफ्तार किया जिसने अपने गंजी में डिवाइस को छुपा कर लाया था जिसको देख पुलिस भी हैरान रह गई. मुख्य सरगना की गिरफ्तारी के लिए पुलिस पटना में छापेमारी कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.