पटना के इस मंदिर में हनुमान जयंती पर लगेगी भीड़, जय श्री राम के नारों से गूंजेगा शहर

आस्था

पटना:  कार्तिककृष्ण चर्तुदशी बुधवार 18 अक्टूबर को हनुमान जयंती मनेगी। दिन में हनुमान जयंती और रात में काली पूजा होगी। हनुमान जयंती पर पूजा-अर्चना के साथ हनुमान जी को ध्वजा दान भी किया जाएगा।

वायु पुराण में लिखा है कि कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष में चतुर्दशी तिथि को मंगलवार के दिन मेष लग्न में माता अंजनी के गर्भ से हनुमान जी के रूप में स्वयं शिव का अवतरण हुआ था। ज्योर्तिवेद विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ. राजनाथ झा के अनुसार इस दिन हनुमान जी की पूजा-आराधना करनी चाहिए।

इसी दिन सूर्य संक्रांति भी है। रात में काली पूजा मनाई जाएगी। अमावस तिथि रात्रि में 11.45 बजे के बाद शुरू हो जाएगा। इसी रात्रि में माता काली, माता तारा और माता भुवनेश्वरी का प्रादुर्भाव हुआ था। अत: साधक लोग माता काली का विशिष्ट पूजन इस रात को करते हैं।

श्री दुर्गा सप्तशती का पाठ, काली जी का पूजन, हवन आदि करते हैं। कई जगह माता काली को छागर बली भी प्रदान की जाती है। इसी दिन छोटी दीपावली मनाई जाएगी और यम दीप दान भी किया जाएगा। बिहार के सिमरिया में कल्पवास का आरंभ भी इसी दिन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.