थाईलैंड: दुनिया का सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन हुआ कामयाब, सभी 13 लोगों को निकाला गया गुफा से बाहर

कही-सुनी

पटना: थाईलैंड की गुफा में फंसे फुटबॉलर को बचा लिया गया है। मंगलवार तक गुफा से 13 बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। स्थानीय मीडिया के मुताबिक मंगलवार को 4 और फुटबॉलरों को बाहर निकाला गया। गुफा से निकाले गए इन बच्चों का कैंप की साइट्स के पास उपचार किया जा रहा है, जबकि इससे पहले बचाए गए बच्चे फिलहाल अस्पताल में भर्ती है, जहां डॉक्टर्स ने सभी की हालत अच्छी बताई है।

गुफा से फुटबॉल कोच को भी बाहर निकाल लिया गया है। बता दें कि थाईलैंड की नेवी ने फेसबुक पर पोस्ट शेयर करते हुए उम्मीद जताई थी कि आज ही कोच और एक और फंसे बच्चे को बाहर निकाल लिया जाएगा। वहीं इस मिशन में शामिल एक गोताखोर ने कहा है कि वह बच्चों के साहस को देखकर हैरान हैं।

बता दें कि ‘वाइल्ड बोर्स’ नाम की फुटबॉल टीम 23 जून को गुफा में फंस गई थी। ये लोग अभ्यास के बाद वहां गए थे और भारी मानसूनी बारिश की वजह से गुफा में काफी पानी भर जाने के बाद वहां फंस गए।

बाहर आया टाइटन स्लिपिंग लेडी नाम से मशहूर इस गुफा से अब तक 11 बच्चे सकुशल बाहर आ चुके हैं। मंगलवार को गुफा से टीम का सबसे युवा सदस्य भी निकल आया। बाहर आए नन्हे फुटबॉलर की उम्र 11 साल है। इस का नाम चानीन विबूनरनग्रुएंग हैं। प्यार से उसे टाइटन बुलाते हैं। वह पिछले पांच साल से फुटबॉल खेल रहा है।

पीएम ने दी सफाई

थाईलैंड के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रायुत चान-ओ-चाऊ भी इस पेर रेस्क्यू ऑपरेशन पर नजर जमाएं हुए हैं। उन्होंने एक जानकारी दी कि गुफा से बाहर निकालने से पहले फुटबॉलर बच्चों के एंटी-एंजाइटी पिल खिलाई गई थी। बच्चों को बेहोशी की दवा नहीं दी गई थी। पीएम ने कहा है कि ये वही दवाएं हैं जो गन से शूटिंग से पहले वह खुल लेते हैं।

Source: Patrika News

Leave a Reply

Your email address will not be published.