तेजस्वी यादव बन सकते हैं आरजेडी के पहले कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष, लालू यादव कर रहे विचार

खबरें बिहार की जानकारी राजनीति

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के पहले कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष बन सकते हैं। आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव इसपर विचार कर रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि आरजेडी की दिल्ली में होने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन में इसकी घोषणा की जा सकती है। हालांकि, अभी तक पार्टी की ओर से आधिकारिक रूप से इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है। लेकिन, ऐसा हुआ तो तेजस्वी पूरी तरह लालू यादव के राजनीतिक वारिस बन जाएंगे।

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक लालू अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव के लिए पार्टी में नया पद बना सकते हैं। उन्हें कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने पर विचार चल रहा है। अगर ऐसा होता है तो आरजेडी के 25 सालों के इतिहास में पहली बार कोई कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जाएगा। तेजस्वी आधिकारिक तौर पर लालू के बाद पार्टी में दूसरे नंबर पर आ जाएंगे और संगठन में उनकी पकड़ और मजबूत हो जाएगी।

लालू यादव बीमार

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव फिलहाल बीमार चल रहे हैं। उनकी किडनी, हार्ट समेत कई शिकायतें हैं। इसी महीने वे इलाज के लिए सिंगापुर भी जाने वाले हैं। बीमारी के चलते वे पार्टी के कामकाज में पूरी तरह सक्रिय होकर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। हाल ही में हुए संगठनात्मक चुनाव में तेजस्वी यादव के आरजेडी अध्यक्ष बनने की चर्चा थी। हालांकि बाद में लालू ही दोबारा अध्यक्ष चुने गए।

तेजस्वी को मुख्यमंत्री बनाने पर नजर

दूसरी ओर, लालू यादव अपने छोटे बेटे तेजस्वी को बिहार का मुख्यमंत्री बनाने की कवायद में जुटे हैं। नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू से गठबंधन कर सत्ता में आने का मकसद ये ही था कि भविष्य में तेजस्वी के सीएम बनने का रास्ता साफ हो जाए। 2020 के विधानसभा चुनाव में तेजस्वी यादव महागठबंधन की ओर से सीएम पद के दावेदार थे, हालांकि उस समय जीत नहीं मिली थी इसलिए उनका सपना पूरा नहीं हो पाया। अब अटकलें हैं कि लोकसभा चुनाव 2024 में सीएम नीतीश कुमार केंद्र की राजनीति में जाएंगे और बिहार की सत्ता की कमान तेजस्वी के हाथों में आ जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.