देश के 22 दलों के नेता कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। इस बैठक में राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा घोषित राशि या योजनाओं में गरीबों को तात्कालिक राहत की कोई व्यवस्था नहीं है। सभी विपक्षी दल मिलकर सरकार पर दबाव बनायें कि गैर-आयकर वर्ग के सभी परिवारों को आगामी छह महीने तक 7500-8000 की दर से सीधे कैश ट्रान्सफर किया जाए। इससे आपदा की मार से लड़ने में इन परिवारों को वास्तविक राहत मिलेगी। 

तेजस्वी ने कहा कि राशनकार्ड हो या ना हो तमाम गरीब परिवारों को 25 किलो चावल, आटा और दाल आने वाले 6 माह तक मुफ्त दिया जाए। प्रवासी मजदूरों के घर तक पहुचाने की व्यवस्था अब तक लचर रही है। हम सरकार से ये साझा आग्रह करें कि देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे मजदूरों को नीयत समय में उनके घरों तक पहुंचाया जाए। बिहार के प्रवासी मजदूरों की भयावह स्थिति है। प्रवासी मजदूरों के दयनीय हालात के लिए एनडीए जिम्मेदार है। 

बिहारी मजदूरों के साथ दुर्व्यवहार हुआ। जहां उन्हें रोटी मिलनी चाहिए थी वहां लाठी मिली। अगर बिहारी श्रमवीर बिहार से बाहर नहीं निकलेंगे तो देश की अर्थव्यवस्था ठप्प हो जाएगी। हमें बिहार में इंडस्ट्री-उद्योग धंधे लगाने होंगे। यह हमारा प्रमुख एजेंडा होगा।

Sources:-Dainik Bhasakar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here