तेजस्वी बोले-नीतीश ने फ्लगु नदी को सीता के श्राप से दिलाई मुक्ति, सीएम ने कहा; गया-बोधगया को और विकसित करेंगे

खबरें बिहार की जानकारी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र सभागार में गया और बोधगया शहर वासियों के लिए हर घर गंगाजल आपूर्ति योजना का लोकार्पण किया। समारोह को संबोधित करते हुए सीएम ने गया और बोधगया के निरंतर विकास के लिए किए जा रहे विभिन्न प्रयासों की जानकारी दी। वहीं तेजस्वी यादव ने कहा कि आज मुख्यमंत्री ने फ्लगु नदी को माता सीता से मिले श्राप से मुक्ति दिला दी।

गया-बोधगया को और विकसित करने का भरोसा

नीतीश ने कहा कि जल जीवन हरियाली अभियान के तहत हर घर गंगा जल की आपूर्ति योजना सफल हुई है। नीतीश ने गया-बोधगया को और विकसित करने का भरोसा दिया। कहा कि यहां आने वाले पर्यटकों को और अधिक सुविधा उपलब्ध कराकर दो-तीन दिन रुकने के लिए आकर्षित किया जाएगा। स्थानीय लोगों को इस पहल से रोजगार भी मिलेगा। मोकामा के हाथीदह से 151 किमी दूर गंगा जल पहुंचाने के बारे में लोगों को विस्तार से जानकारी देते हुए नीतीश ने रबड़ डैम का भी जिक्र किया।

पहले फल्गु नदी में पानी ही नहीं रहता था

उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि आज फल्गु नदी में गंगा जल पहुंच गया है। साथ ही गया, बोध गया में घर-घर गंगा जल पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि पहले फल्गु नदी में पानी ही नहीं रहता था। कहा जाता है कि मां सीता के श्राप की वजह से फल्गु नदी हमेशा सूखी रहती थी, लेकिन नीतीश कुमार ने फल्गु नदी को श्राप से मुक्ति दिला दी। यानी सीता जी ने फल्गु नदी को श्राप दिया, अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश ने फल्गु नदी की मुक्ति दिला दी है।

मैथिली ने गीत गाकर किया स्वागत

इससे पहले मैथिली ठाकुर ने कार्यक्रम में गीत गाकर सीएम व अन्य का स्वागत किया। उन्होंने नया बिहार बनाना है… बाढ़…भगीरथ.. नीतीश… गंगा को दक्षिण में पहुंचा.. गंगा जल आपूर्ति योजना ने जल संकट से वारा है गीत गया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने गया और बोधगया शहर में हर घर गंगा जल आपूर्ति योजना में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों व इंजीनियरों को प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया।

2019 में परिकल्पना को मिली थी मंजूरी

इस अनूठी परिकल्पना को वर्ष 2019 में गया शहर में हुई कैबिनेट की विशेष बैठक में मंजूरी दी गई थी। जल संसाधन विभाग ने तय लक्ष्य तीन वर्षों में योजना को पूरा कर रिकार्ड कायम किया है। योजना के तहत गया शहर के 53 वार्डों के करीब 75000 घरों और बोधगया शहर के 19 वार्डों के करीब 6000 घरों में शुद्ध पेयजल के रूप में गंगाजल की आपूर्ति की जाएगी। योजना के तहत प्रति व्यक्ति प्रतिदिन 135 लीटर पानी उपलब्ध होगा। लोकार्पण समारोह को उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, जल संसाधन मंत्री संजय झा, कृषि मंत्री कुमार सर्वजीत, सूचना एवं प्रावैधिकी विभाग इसराइल मंसूरी, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.