तेज रफ्तार की पछिया हवा से और बढ़ेगी ठिठुरन, तीन दिनों तक कोहरे की चादर में लिपटा रहेगा प्रदेश

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के जिलों में ठिठुरन वाली ठंड की एंट्री हो चुकी है। तापमान में तेजी से हो रहे गिरावट के साथ ही कोहरे का असर भी बढ़ गया है।  पांच से छह किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पछिया हवा चल रही है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार, नए साल से पहले ठंड अपनी चरम पर होगी। तीन दिनों के बाद मौसम सामान्य होने के साथ कनकनी में वृद्धि के आसार हैं। अगले तीन दिनों तक कोहरे की मोटी चादर में प्रदेश लिपटा रहेगा। प्रदेश के 19 जिलों में कोहरे का प्रभाव देखने को मिलेगा।

राजधानी पटना समेत राज्य भर में उच्च दबाव का क्षेत्र बने होने के साथ आर्द्रता में वृद्धि की वजह से कोहरे से फिलहाल निजात मिलने की संभावना नहीं है। गुरुवार को पटना व पूर्णिया जिले में सुबह के समय घना कोहरा छाया रहा। वहीं, प्रदेश के अन्य जिलों में कोहरे की स्थिति बनी रही। गुरुवार को पटना में कोहरे के कारण दौ सौ मीटर व पूर्णिया में 150 मीटर दृश्यता दर्ज की गई। कोहरे के कारण विमान, रेल व बस सेवाएं चरमरा गईं। राजधानी समेत प्रदेश के 11 जिलों के न्यूनतम तापमान में आंशिक कमी आई है। 7.2 डिग्री सेल्सियस के साथ गया प्रदेश का सबसे ठंडा शहर दर्ज किया गया।

गया में कोहरे का दिखा असर, न्यूनतम तापमान 7.2 डिग्री

कड़ाके वाली ठंड के आगमन के साथ ही गया का न्यूनतम तापमान अन्य जिलों की तुलना में  सबसे कम है। गुरुवार की सुबह आठ बजे तक सूर्य की रोशनी धरती पर नहीं पहुंची, क्योंकि आसमान में धुंध का असर दिख रहा था। मानपुर कृषि केंद्र के मौसम विभाग के अनुसार अभी कुछ दिनों तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा। दिन में थोड़ी राहत मिलेगी लेकिन रात में ठंड अधिक होगी। मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम तापमान 21 और न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। जो सामान्य तापमान से छह डिग्री सेल्सियस कम था।

कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम विभाग के विज्ञानिक डा. जाकिर हुसैन ने बताया कि तीन-चार दिन के अंदर अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट होगी। तेज रफ्तार सर्द हवा चलेगी, जिससे की ठिठुरन बढ़ेगी। दो से तीन डिग्री तक तापमान गिरने के आसार हैं। आसमान में हल्के बादल छाए रहेंगे। वहीं कोहरे का आसार रहेगा।

4 से 8 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगी पछिया हवा

मुजफ्फरपुर में जिले के तापमान में गिरावट जारी है। इसके कारण ठंड का प्रभाव बढ़ा है। पछिया हवा की वजह से इसके और बढ़ने का पूर्वानुमान है। गुरुवार की बात करें तो सुबह में कुहासा छाया रहा। दृश्यता कम होने वजह से वाहन चालकों को परेशानी हुई। दोपहर में धूप निकली, लेकिन शाम ढलने के साथ ही ठंड का एहसास होने लगा। लोग घरों में दुबक गए।

डा. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा की ओर से 25 दिसम्बर तक के पूर्वानुमान में बताया गया है कि इस अवधि में उत्तर बिहार के जिलों में आसमान साफ रहने की संभावना है। इस दौरान मौसम शुष्क रहेगा। रात व सुबह में हल्का से मध्यम कुहासा रह सकता है। अधिकतम तापमान में विशेष बदलाव आने की सम्भावना नहीं है। न्यूनतम में हल्की वृद्धि के साथ 11-13 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है। यह सामान्य से 2 से 3 डिग्री सेल्सियस अधिक है। मौसम विज्ञानी डा.ए सतार ने बताया कि पूर्वानुमानित अवधि में  चलने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.