बिहार में भारत की सबसे बड़ी कंपनी TCS (टाटा कंस्लटेंसी सर्विस) केन्द्र का उद्यघाटन केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने किया. इस मौके पर बीजेपी विधायक संजीव चौरसिया, नीतिन नवीन और TCS के अधिकारी भी मौजूद रहे. पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से जीत हासिल करने के बाद रविशंकर प्रसाद ने दो महीने में ही TCS जैसे बड़ी कंपनी पटना में आ गई ये एक बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है. बिहार में किसी बड़ी आईटी कंपनी द्वारा किया गया ये पहला बड़ा निवेश है.

पटना में शुरु हो रहे TCS केन्द्र को कंपनी ने करीब 20 करोड़ रुपए की लागत से तैयार किया है. इस केन्द्र में करीब 4 हजार आईटी प्रोफेशन्लस को रोजगार मिलेगा जो बिजनेस प्रोसेसिंग और सॉफ्टवेयर विकास जैसे कार्यों को यहां से कर सकेंगे.

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पटना में TCS जैसे कंपनी का आना बिहार के लिए शुभ संकेत हैं साथ ही कंपनी का विस्तार आगे भी होगा. पीएम मोदी का सपना है कि डिजिटल का स्वरूप नीचे तक जाना चाहिए. ये जमाना टेक्नॉलॉजी का है. समावेशी भारत का निर्माण करना है डिजिटल के माध्यम से.

उन्होंने कहा कि 130 करोड़ के भारत में 123 करोड़ के भारत में 123 करोड़ आधार कार्ड और 121 करोड़ लोगों के पास मोबाइल है. डिजिटल के माध्यम से बिचौलिये खत्म हो गए और अब गरीबों तक सीधा पैसा पहुंचता है. देश को ईमानदार बनना है. पीएम मोदी का सपना है कि भारत दुनिया में डिजिटल ताकत बने. उन्होंने घोषणा कि बिहार में 5 हजार डिजिटल गांव बनेंगे.

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि TCS कंपनी से न सिर्फ रोजगार की संभावनाएं मिलेंगी बल्कि देश दूसरे आईटी कंपनी को भी बिहार में निवेश करने की प्ररेणा मिलेगी. उन्होंने देश के दूसरे आईटी कंपनियों से अपील किया कि वो बिहार में अपना केन्द्र बिहार लाएं और बिहार की प्रतिभाओं का लाभ उठाएं. गौरतलब है कि TCS सॉफ्टवेयर उद्योग में भारत की सबसे बड़ी कंपनी है. TCS में 4 लाख 36 हजार लोग काम करते हैं. उन्होंने कहा कि TCS जैसे कंपनी बिहार में आना सुखद संदेश है.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here