तारेगना रेलवे स्टेशन पर बवाल में 61 गिरफ्तार, दो कोचिंग संचालकों पर FIR

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में अग्निपथ योजना के विरोध के दौरान पटना जिले के मसौढ़ी में तारेगना रेलवे स्टेशन पर हुए बवाल में पुलिस ने बड़ा एक्शन किया है। स्टेशन पर उपद्रव करने के आरोप में पुलिस ने 61 लोगों को गिरफ्तार किया है। फरार उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह छापेमारी की जा रही है। साथ ही पुलिस ने मसौढ़ी के दो कोचिंग संस्थानों के संचालकों पर हिंसा के लिए छात्रों को भड़काने के मामले में एफआईआर दर्ज की है।

पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज, वीडियो कैमरा और सोशल मीडिया पोस्ट के आधार पर आरोपियों की पहचान की जा रही है। कुछ कोचिंग संस्थान लोगों को भड़काकर कानून-व्यवस्था बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं। मसौढ़ी के अलावा, मनेर और पटना के कुछ कोचिंग संस्थानों की भूमिका संदिग्ध है, इनका सत्यापन कराया जा रहा है। सबूत मिलने पर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

उपद्रवियों ने फूंका तारेगना स्टेशन

मसौढ़ी में शनिवार को अग्निपथ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे युवाओं ने जमकर बवाल काटा। करीब डेढ़ हजार प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने तारेगना रेलवे स्टेशन पर हमला बोल दिया। उपद्रवियों ने पेट्रोल बम फेंककर तारेगना स्टेशन परिसर और टिकट काउंटर को आग के हवाले कर दिया। साथ ही वहां रखे दर्जनों वाहनों में आग लगा दी। बताया जा रहा है कि उपद्रवी मसौढ़ी से होकर गुजरने वाली एक एक्सप्रेस ट्रेन पर हमला करना चाहते थे, ट्रेन नहीं आने से उन्होंने तारेगना स्टेशन में आगजनी और तोड़फोड़ कर दी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.