बिहार के हर तीसरे घर में पनप रहे एक कवि या लेखक, ये कहना है वरिष्ठ लेखकों का…

बिहार के हर तीसरे घर में एक कवि बिहार के हर तीसरे घर में एक कवि या लेखक आपको देखने को मिल जायेगा. यह हमारा नहीं, बल्कि शहर के कुछ वरिष्ठ लेखकों का मानना है. वे इसे बेहतर भी मानते हैं, क्योंकि जहां साहित्य का भंडार होता है, वहां पर ज्ञान का भी भंडार होता […]

Continue Reading