सुप्रीम कोर्ट का धार्मिक मामलों में दखल से इंकार, RO के पानी से ही होगा महाकाल का अभिषेक

आस्था

पटना: मध्य प्रदेश में उज्जैन के महाकाल ज्योतिर्लिंग क्षरण मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर कमेटी के सुझावों को मंजूरी दे दी है. इसके फलस्वरूप अब शिवलिंग पर RO पानी ही चढ़ाया जाएगा. इसके अलावा दूध और दूसरी पूजन सामग्री सीमित करने को भी मंजूरी दे दी है.

दरअसल, महाकाल में जलाभिषेक, दुग्धाभिषेक और पूजन सामग्री चढ़ाने से शिवलिंग का क्षरण हो रहा था. इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी. याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कई निर्देश जारी किए थे. इसी पर सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है.

साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने शिवलिंग पर चढ़ाए जाने वाले दूध, बेलपत्र और पूजन सामग्री की मात्रा भी तय कर दी है. सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर समिति के सुझावों को मानते हुए ये फैसला दिया है.

इससे पहले मामले में मंदिर की तरफ से बनाई गई एक कमेटी ने कहा था कि पूजा के दौरान महाकाल को चढ़ाई जा रही कुछ चीज़ों से शिवलिंग को नुकसान हो रहा है. इसके जबाब में सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया है कि पवित्र ज्योतिर्लिंग का जलाभिषेक सिर्फ RO वाटर से किया जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.