जापान के तीन युवा अब चर्चित शिक्षण संस्थान सुपर 30 में बच्चों को पढ़ाएंगे. जापान के ये युवा सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार से मिलने उनके पटना स्थित आवास पर पहुंचे थे. उनके साथ मिलकर ये तीनों युवा शिक्षण कार्यो में सहयोग देने की इच्छा जताई. कोटारू फुकूओका के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम रविवार को पटना पहुंची और आनंद से मुलाकात की.

ये युवा टोक्यो विश्वविद्यालय से स्नातक हैं. जापानी युवक के अनुसार, आनंद कुमार जापान में काफी लोकप्रिय रहे हैं. इस टीम में कोटारू फुकूओका के अलावा टाटीया और रिक्कू शामिल थे.

इस मौके पर आनंद ने कहा, “सुपर 30 के साथ काम करने में तीन जापानी युवकों की रुचि एक सुखद आश्चर्य था. मुझे लगता है कि यह छात्रों के लिए भी अच्छा होगा, क्योंकि उन्हें पटना में ही अंतर्राष्ट्रीय शिक्षण मिलेगा. मुझे उनके साथ अच्छा करने की उम्मीद है.”

जापान के प्रसिद्ध मीडिया समूह असाही सीनबम ने भी शिक्षा के क्षेत्र में दुनिया की शीर्ष अग्रणी पहल के बीच सुपर 30 का चयन किया था. इसमें जापान के दो शैक्षणिक क्लब और फ्रांस के लोग शामिल थे. एसटीबी रिसर्च इंस्टीट्यूट, जापान के अर्थशास्त्री योइची इटोह एनएचके चैनल के लिए सुपर 30 पर फिल्म बनाने वाले पहले व्यक्ति थे.

एनएचके के निर्माता एमिको अमागावा साल 2007 में आनंद और उनके स्कूल पर एक घंटे की डॉक्यूमेंट्री बनाने के लिए यहां आए थे. जापानी टीवी चैनल कंसाई टेलीकास्टिंग कार्पोरेशन की निदेशक युता अम्मा ने आनंद को ‘सच्चा रोल मॉडल’ बताया था.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here