चार देशों के मुंबई में खेले जा रहे इंटरकॉन्टिनेंटल कप में कीनिया के खिलाफ मैच टीम इंडिया के कप्तान सुनील छेत्री के अंतरराष्ट्रीय करियर का 100वां मैच था। इस मैच के लिए मैदान में उतरते ही छेत्री बाईचुंग भूटिया के बाद यह उपलब्धि हासिल करने वाले दूसरे भारतीय फुटबॉलर बन गए। मैच से पहले साथी खिलाड़ियों ने अपने कप्तान को गॉर्ड ऑफ देकर सम्मानित किया और इस मौके को यादगार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

इस दौरान वह ब्लू की जगह ऑरेंज जर्सी में दिखाई दिए। गार्ड ऑफ ऑनर लेते वक्त छेत्री भावुक दिखाई दिए। छेत्री ने 13 साल पहले पाकिस्तान के खिलाफ अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया था और अंतरराष्ट्रीय मैचों का शतक कीनिया के खिलाफ पूरा किया। 100 मैचों में उन्होंने 59 गोल जड़े हैं और वर्तमान में एक्टिव फुटबॉलरों में रोनाल्डो और मेसी के बाद सबसे ज्यादा गोल जड़ने वाले खिलाड़ियों की सूची में तीसरे पायदान पर हैं।

टूर्नामेंट के पहले मैच में भारत ने चीनी ताइपेई को 5-0 से मात दी। इसके बाद छेत्री ने लोगों से मैदान में आकर टीम का समर्थन करने का अनुरोध किया था। इसके बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भारतीय फुटबॉल टीम सहित अन्य खेल खेलने वाले खिलाड़ियों का समर्थन करने का अनुरोध किया। कीनिय के खिलाफ मैच में इस अपील का असर दिखा और मैच से पहले सारे टिकर बिक गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here