कभी झोपड़ी में गुजारे थे दिन, दिन-रात कुर्ते सिलकर बनाई ढाई सौ करोड़ों का टर्नओवर की कंपनी

सच्चा हिंदुस्तानी

आप उस स्थिति की कल्पना कीजिए जब घर का सारा खर्च उठाने वाला सदस्य यानी कि पिता अचानक सन्यासी बनने का फैसला कर ले और अपने पीछे छोटे-छोटे बच्चों और पत्नी को बेसहारा छोड़ दे। कुछ ऐसी ही अजीब और मुश्किल परिस्थितियों से निकलकर दो भाइयों, जितेंद्र चौहान और बिपिन चौहान ने न केवल अपने परिवार को सहारा दिया बल्कि अपने पुश्तैनी पेशे में इतनी सफलता हासिल कर ली, कि आज वे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए कपड़े बनाते हैं और साथ ही ढाई सौ करोड़ का टर्नओवर देने वाली कंपनी के मालिक भी हैं।

कम उम्र में पिता का हाथ जिन बच्चों के सिर से हट गया हो, वे या तो पूरी तरह से बरबाद हो जाते हैं या फिर आबाद, जिनमें बरबाद होने वालों की संख्या ज्यादा हुआ करती है और जो आबाद होते हैं वे उदाहरण बन जाते हैं। उन्हीं उदाहरणों में से एक हैं चौहान ब्रदर्स, यानि कि ‘जितेंद्र चौहान’ और ‘बिपिन चौहान’।

छोटी-सी उम्र में इन दो भाईयों ने पिता के घर छोड़ने के बाद अपने परिवार को टेलरिंग करके पाला और आज वे ‘Jadeblue’ जैसी बड़ी और नामी कंपनी के मालिक हैं, जिसका टर्नओवर ही करोड़ों में है, साथ ही इन भाईयों की पहचान भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुर्ते सिलने वालों के रूप में भी होती है।

जितेंद्र चौहान और बिपिन चौहान जेडब्लू मेन्सवेयर स्टोर के मालिक हैं। इनकी कंपनी देश की मशहूर हस्तियों के लिए कपड़े बनाती है। इन्होंने 1981 में अपनी कंपनी स्थापित की थी। आज ये देश के शक्तिशाली नेताओं जैसे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, गुजरात के कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मशहूर उद्योगपति गौतम अडाणी और करसनभाई पटेल जैसे लोगों के लिए कपड़े बनाने के साथ ही अपने सपने को साकार कर रहे हैं।

इनकी कंपनी में पूरे देश में लगभग 1200 लोग काम करते हैं। आज ये अपने बिजनेस के सिलसिले में देश-विदेश की यात्रा भी करते रहते हैं, लेकिन आज से पचास साल पहले इनकी हालत देखकर कोई नहीं कह सकता था, कि ये इस मुकाम तक पहुंचेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.