Patna: बिहार की राजनीति के लिए शनिवार का दिन बेहद अहम रहा. चारा घोटाले के चार मामलों के सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर झारखंड हाइकोर्ट ने अपना फैसला सुनाया. अदालत ने लालू यादव को जमानत दे दी है. जिसके बाद बिहार में राजद कार्यकर्ता सहित लालू समर्थकों में जमकर उत्साह है. लालू यादव की रिहाई के लिए उनकी बेटी रोहिणी ने रोजा और नवरात्रा रखा था. वहीं उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव भी हाल के दिनों में झारखंड स्थित देवघर और बासुकीनाथ मंदिर में पूजा पाठ कर अपने पिता की रिहाई के लिए प्रार्थना करते नजर आए थे. साथ ही लालू यादव के समर्थकों के बीच भी जमानत के लिए दुआ और पूजा का दौर जारी था. जिसने आज रंग दिखाया और लालू यादव को जमानत दे दी गई है.

लालू यादव को जमानत मिलने के बाद राबड़ी आवास पर खुशियों का माहौल है. कई प्रशंसक भी वहां जुटे हुए हैं. आज दुमका कोषागार मामले में सुनवाई करते हुए झारखंड हाईकोर्ट के द्वारा उन्हें जमानत दी गई. लालू परिवार की भी पिछले काफी महीनों से मांग थी कि स्वास्थ्य को देखते हुए लालू यादव को रिहा कर देना चाहिए. लालू प्रसाद की ओर से सुप्रीम कोर्ट के वरिष्‍ठ वकील कपिल सिब्‍बल ने अदालत में उनकी जमानत अर्जी पर दलीलें पेश की. इस दौरान उन्होंने लालू यादव के तरफ से आधा से अधिक सजा काट लेने का हवाला दिया.

लालू यादव की रिहाई को लेकर उनके समर्थकों में भी काफी उत्साह देखने को मिल रहा है. परिवारजनों के साथ ही कार्यकर्ताओं और समर्थकों के बीच खुशियां छाई हुई है. इस दौरान राबड़ी देवी और मीसा भारती अभी दिल्ली में ही मौजूद है. अभी यह जानकारी परिवार के साथ साझा नहीं किया गया है कि वो अभी लालू यादव को लेकर घर जाएंगे या फिर कोरोना संक्रमण और लालू यादव के स्वास्थ्य को देखते हुए फिलहाल अस्पताल में ही रखना चाहेंगे. लालू यादव की रिहाई के लिए उनके समर्थक पूजा, हवन और दुआ कर रहे थे.

गौरतलब है कि चारा घोटाला के चार मामलों में लालू प्रसाद यादव जेल की सजा काट रहे हैं. दुमका कोषागार मामले में झारखंड हाई कोर्ट से एक बार जमानत याचिका खारिज हो चुकी थी. लालू प्रसाद यादव की ओर से फिर से बेल की मांग की गई थी. जिसमें सजा की आधी अवधि काट लेने के तर्क के साथ कोर्ट से जमानत मांगी गई थी.

Source: Prabhat Khabar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here