‘छेड़खानी करने पर भीड़ से पिटे थे तेजस्वी और तेजप्रताप यादव’, सुशील मोदी का ट्विटर पर दावा

राजनीति

पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लालू यादव के दोनों बेटों और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव को लेकर खुलासा किया है. जी हां सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि तेजस्वी यादव और तेज प्रताप छेड़खानी को लेकर भीड़ से 2008 में पिट चुके हैं.

उन्होंने ट्वीट किया और कहा कि 1 जनवरी 2008 को दिल्ली के अशोका होटल, कनाट प्लेस और महरौली फार्म हाउस पर एक ही दिन में तीन स्थानों पर नव वर्ष की पार्टियों में लड़कियों पर फब्तियां कसने और उनसे छेड़छाड़ करने के चलते अज्ञात लोगों ने लालू प्रसाद के दोनों बेटों पर हमला कर दिया था. इस घटना में जख्मी तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव का अस्पताल में प्राथमिक उपचार भी चला था. उस समय दोनों भाइयों का बचाव करने वाले निजी सुरक्षा अधिकारी की सर्विस रिवाल्वर गायब हो गई थी. परिवारवादी पार्टी ने 9 साल बाद दोनों को नेता मान लिया गया. सीनियर नेता किनारे लगा दिए गए.

सुशील मोदी के इस आरोप का आरजेडी नेता शक्ति यादव ने पलटवार किया है और कहा है कि सुशील कुमार मोदी फर्जी नेता हैं. वे अनर्गल आरोप लगाते रहते हैं. पूरी सरकार मुजफ्फरपुर मामले में घिर गई है और इस कांड में बीजेपी के ही ज्यादातर नेता फंस रहे हैं. इसलिए सुशील कुमार मोदी मामले को डायवर्ट कर रहे हैं.

सुशील कुमार मोदी ने रेलवे के होटल के बदले करोड़ों रुपये की जमीन लेने के मामले में भी भी लालू यादव और उनके परिवार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जिस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की दो पीढ़ियां आरोपी हों वो जनता का क्या भला करेगी. हालांकि सुशील मोदी के इन आरोपों पर फिलहाल तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव ने कोई कमेंट नहीं किया है.

Source: Zee News

Leave a Reply

Your email address will not be published.