झारखंड के अब्दुल सत्तार चौधरी एक ऐसा नाम है जो पिछले 40 वर्षों से राष्ट्रध्वज का निर्माण कर रहे हैं. गणतंत्र दिवस हो या स्वतंत्रता दिवस रांची और इसके आसपास के क्षेत्रों के लोग तिरंगा झंडा यहां से लेकर जाते हैं.

आज इस दुकान की पहचान ही अलग है, क्योंकि अब्दुल सत्तार चौधरी झंडा बनाने और बेचने के अलावा तिरंगे का महत्व भी यहां आने वाले ग्राहकों को बताते भी हैं.

रांची के अपर बाजार स्थित कशिश झंडे की दुकान लोगों की जुबां पर हमेशा रहता है. दुकान के संचालक अब्दुल सत्तार चौधरी पिछले 40 सालों से राष्ट्रीय ध्वज बनाते हैं. उन्हें तिरंगा बनाने का गर्व भी होता है जब इनके हाथों से बना तिरंगा झंडा गर्व के साथ हवा में लहराता है.

जाहिर है आज छोटी-छोटी बातों पर लोग एक दूसरे के दुश्मन बन बैठते हैं. ऐसे में अब्दुल सत्तार चौधरी लोगों के लिए एक मिसाल है. अब्दुल सत्तार चौधरी ना केवल झंडा बेचते हैं बल्कि देश के युवाओं के जज्बे को जगाए भी रखते हैं. देश भक्ति की कहानी अपनी जुबानी सुनाते भी हैं.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here