SSP kuldeep dwiwedi

AK-47 लेकर नंगे पैर भिड़ गया अपराधियों से ये दबंग IPS , बड़ी साजिश को कर दिया नाकाम

राष्ट्रीय खबरें

राजधानी रांची की पहचान जेएससीए इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेिडियम, धुर्वा के पास पुलिस अपराधियों के बीच जबरस्त मुठभेड़ हुई। एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने खुद मोर्चा संभाला और हाथों में एके-47 लेकर खुद टीम की अगुवाई की। मुठभेड़ के बाद तीन अपराधियों ने सरेंडर किया। मुठभेड़ के वक्त रांची के कई थानों की पुलिस पहुंची हुई थी। पूरी घटना धुर्वा थाना क्षेत्र की है।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार, एसएसपी को गुप्त सूचना मिली थी कि जगन्ना्थपुर मंदिर के पीछे मुर्गा लड़ाई मैदान में दो अपराधी हथियार के साथ मौजूद थे। एसएसपी ने तुरंत जगन्नाथपुर थाने को सूचना दी और मौके पर पहुंचने का निर्देश दिया। इतना ही नहीं खुद एसएसपी भी मौके पर पहुंचे।

एसएसपी के पहुंचते ही कई थानों की पुलिस वहां पहुंची और अपराधियों को चारों ओर से घेर लिया।
गिरफ्तार अपराधियों में पलामू का अपराधी जेपी शुक्ला और विरेंद्र शामिल है। पुलिस ने मामले में लातेहार निवासी दिलीप वर्मा, रॉकी और धुर्वा का मुन्ना राय को भी गिरफ्तार किया है।

SSP kuldeep dwiwedi

गिरफ्तारी जेपी शुक्ला ने बताया कि उसे हीनू निवासी भाजपा के कार्यकर्ता और जमीन कारोबार बीनू गोप ने हेथू निवासी बिल्डर मदन मंडल और विद्यापति नगर निवासी बिल्डर गंगा राम की हत्या के लिए पांच-पांच लाख रुपये की सुपारी दी थी।

यह सुपारी अरगोड़ा के राकेश नामक अपराधी और लातेहार के दिलीप वर्मा के जरिये मिली थी। पुलिस ने बीनू मंडल के तलाश में छापेमारी की, लेकिन वह नहीं मिला। पुलिस गिरफ्तारी दोनों शूटर और अन्य अपराधियों से पूछताछ करने के बाद उनके अन्य सहयोगियों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

SSP kuldeep dwiwedi

अपराधी पास ही मौजूद पेड़ों के झुरमुट की ओर भाग निकले और पुलिस पर फायरिंग भी की। पुलिस ने जवाबी फायरिंग की और अपराधियों को दूर तक खदेड़ा। बाद में अपराधियों ने अपने का चारों ओर से घिरा पाया तो आत्मिसमर्पण कर दिया। एसएसपी को सूचना मिली थी कि गिरोह के सदस्य रांची के धुर्वा इलाके में छुपे हुए हैं और बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं।

पुलिस ने सूचना मिलने के बाद इन अपराधियों के खिलाफ आपरेशन चलाया। पुलिस को आता देख अपराधियो ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दिया। फायरिंग के बावजूद पुलिस ने गिरोह के 3 सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। अपराधियों से पूछताछ में इस बात का भी खुलासा हुआ है कि ये सभी पेशेवर अपराधी हैं और रांची में किसी चर्चित बिल्डर की हत्या के प्रयास में थे। पुलिस ने बिल्ड र के नाम का खुलासा नहीं किया है।

इस प्रकार रांची पुलिस ने एक बड़ी घटना को टाल दिया। अपराधियों के पास से दो पिस्टल और एक कार्बाइन बरामद हुआ है। पुलिस ने मौके पर काफी देर तक सर्च अभियान चलाया। कई खोखे बरामद किये गये हैं। घटना का एक वीडियो पर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। साथ ही सोशल मीडिया पर एसएसपी कुलदीप द्विवेदी की हाथों में एके47 लिए तसवीर भी वायरल हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.