श्रीमद्भागवत गीता के अनुसार सतयुग से लेकर कलयुग तक भगवान विष्णु(Lord Vishnu)के 24 अवतार हैं, इन 24 अवतारों में 10 अवतार मुख्य रूप से प्रसिद्ध है। आइए जानते हैं भगवान विष्णु के सभी 10 अवतारों के बारे में.

भगवान विष्णु ने सबसे पहला अवतार मत्स्य के रूप लिया था। समस्त धरती जब पानी में डूब रही थी तब भगवान विष्णु ने मत्स्य अवतार अवतार लेकर पृथ्वी की रचना के लिए समुद्र तल से अपने गलफर में मिट्टी लेकर आए। भगवान ने इस अवतार में वेदों और मनु की रक्षा की।

भगवान विष्णु ने दूसरा अवतार कूर्म या कछुए के रुप में लिया। इस अवतार में भगवान ने मंदराचल पर्वत को अपने पीठ पर सहारा दिया जिससे सागर मंथन का कार्य पूरा हो सका। यही कारण है कि गृह निर्माण के समय भूमि पूजन के अवसर पर भूमि में कछुए को रखा जाता है।

भगवान विष्णु का तीसरा अवतार वराह के रुप में माना जाता है। इस अवतार में भगवान ने हिरण्याक्ष का वध किया और पृथ्वी को रसातल से लेकर आए। इसी अवतार में भगवान की कृपा से मंगल ग्रह का जन्म हुआ।

भगवान विष्णु का चौथा अवतार नृसिंह रुप में माना जाता है। इस अवतार में भगवान ने हिरण्याक्ष के भाई हिरण्यकश्यपु का वध करके अपने भक्त प्रह्रलाद के प्राण बचाए।

भगवान विष्णु का पांचवा अवतार वामन रूप में माना जाता है। इस अवतार में पहली बार भगवान ने अपने विराट रुप को दिखाया था। यह अवतार भगवान विष्णु को बलि के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए लेना पड़ा था। बलि ने स्वर्ग पर अधिकार करके इन्द्र और अन्य देवाताओं के समस्त अधिकार छीन लिए थे।

भगवान विष्णु का छठा अवतार परशुराम है। इस अवतार में भगवान ने एक तपस्वी और योद्धा का रुप धारण किया और क्षत्रियों के बढ़ते अत्याचार से पृथ्वी को मुक्त कराया। भगवान विष्णु का यह अवतार अमर माना जाता है।

भगवान विष्णु का सातवां अवतार राम रुप में माना जाता है। इस रुप में भगवान ने रावण का वध किया और पृथ्वी पर धर्म की स्थापना की। इस अवतार में भगवान ने मनुष्य को आदर्श रुप में जीवन जीने की प्रेरणा दी।

भगवान विष्णु का अवतार श्री कृष्ण के रुप में माना जाता है। इस अवतार में भगवान ने अर्जुन को गीता का ज्ञान दिया था।

भगवान विष्णु का नौवां अवतार महात्मा बुद्ध के रुप में माना गया है। इस अवतार में भगवान ने बौद्ध धर्म की स्थापना की।

भगवान विष्णु का दसवां अवतार कल्कि रुप में होगा। इस अवतार में भगवान कलयुग के प्रभाव को दूर करके धर्म का पालन करने वालों की रक्षा करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here